ब्रेकिंग न्यूज़

इटली से दान में मिले पीपीई उपकरणों को इटली को ही बेच रहा है चीन, मदद के नाम पर कर रहा व्यापार

जब चीन में कोरोना वायरस बुरी तरह से फैल रहा था तब इटली ने चीन को निजी सुरक्षा उपकरण (पीपीई) दान किए थे

कोरोना वायरस का प्रभाव कम होने की जगह रोज बढ़ता ही जा रहा है और ये वायरस विश्वभर में बुरी तरह से फैल गया है। इस वायरस का पहला मामला चीन देश से सामने आया था और चीन में हजारों लोगों की मौत इस वायरस से हो गई थी। वहीं अब चीन देश का दावा है कि उसने इस वायरस पर काबू पा लिया है। हालांकि चीन देश से होते हुए ये वायरस पूरी दुनिया में फैल गया है और इस वायरस ने यूरोप देशों में तबाही मचाई हुई है। यूरोप के देश इटली, स्पेन और ब्रिटेन में कोरोना वायरस काफी फैल गया है और इन देशों की अधिकतर आबादी इस वायरस से संक्रमित है। इस बुरे दौर में चीन ने इन देशों की मदद करने के लिए अपना हाथ आगे बढ़ाया है और अपनी डॉक्टरों की एक टीम इटली भेजी है। ताकि लोगों का इलाज जल्द से जल्द हो सके। लेकिन ऐसे बुरे दौर में भी चीन चालबाजी करने से बाज नहीं आ रहा है।

 

ब्रिटेन की मैग्जीन ‘द स्पेक्टेटर’ का दावा है कि जब चीन में कोरोना वायरस बुरी तरह से फैल रहा था। उस समय इटली ने चीन की मदद की थी। इटली ने चीन को निजी सुरक्षा उपकरण (पीपीई) दान किए थे। वहीं अब इटली में ये वायरस फैल गया है और ऐसे में इटली को पीपीई की सख्त जरुरत है। इटली की इस जरूरत को देखते हुए चीन ने इटली को पीपीई उपकरण दिए हैं। लेकिन इनके लिए चीन इटली से पैसे ले रहा है। इतना ही नहीं चीन वही उपकरण इटली को बेच रहा है। जो कि इटली द्वार चीन को दान के रुप में दिए गए थे। द स्पेक्टेटर के अनुसार इस संकट के समय में चीन दुनिया को दिखा रहा है कि वो पीपीई इटली को दान करेगा। मगर चीन ने इटली को पीपीई दान में नहीं दी हैं बल्कि उन्हें बेचा है।

दिखावा कर रहा है चीन

चीन की इस हरकत पर ट्रंप प्रशासन के एक अधिकारी का कहना है कि चीन इटली और विकासशील देशों की मदद का दिखावा कर रहा है। कोरोना वायरस का पहला मामला चीन के वुहान से आया था और अब ये हम सभी को संक्रमित कर रहा है। ऐसे में निश्चित तौर पर चीन को मदद करनी चाहिए। लेकिन चीन मदद के नाम पर डिफेक्टिव समाना दे रहा हैं और इसी वजह से स्पेन ने चीन को 50 हजार कोरोना टेस्टिंग किट वापस कर दिए हैं। इतना ही नहीं नीदरलैंड देश को जो मास्क चीन ने भेजे हैं। उनमें से आधे सुरक्षा मानकों पर खरे नहीं उतरते हैं। ट्रंप प्रशासन के एक वरिष्ठ अधिकारी ने ये बात मैग्जीन से कही है और इस अधिकारी का दावा है कि चीन ने इटली को पीपीई खरीदने के लिए मजबूर किया जो इटली ने ही उन्हें दान किए थे।

12 लाख से अधिक लोग संक्रमित

वुहान से फैले कोरोना वायरस से 12 लाख से अधिक लोग संक्रमित हो गए हैं और इस समय अमेरिका और इटली देश इस वायरस से बुरी तरह से प्रभावित है। इटली में 15,000 से ज्यादा लोग कोविड-19 की चपेट में आकर अपनी जान गवा चुके हैं। ऐसे में इटली की मदद करने की जगह चीन इटली से पैसे कमाने में जुटा हुआ है।

Show More

Related Articles

Back to top button
Close