राजनीति

CM शिवराज सिंह चौहान 1 महीने का वेतन करेंगे दान, बोले- “अभी जंग सिर्फ कोरोना को रोकने की है”

कोरोना वायरस के संकट से निपटने के लिए सभी अपनी तरफ से हर संभव कोशिश में लगे हुए हैं, सरकार इस बीमारी के संक्रमण का इलाज खोजने में जुटी हुई है, वहीं मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कोरोना वायरस के संकट से निपटने के लिए अपनी 1 महीने की तनख्वाह मुख्यमंत्री राहत कोष में देने का ऐलान किया है, इसके साथ ही इन्होंने विधायकों से यह अपील की है कि आप सभी लोग भी इसमें अपना योगदान दीजिए।

आपको बता दें कि मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कोरोना संकट में अपनी सैलरी देने की घोषणा की है, इसके साथ ही अपने साथ के विधायकों से यह अपील की है कि वह भी अपनी सैलरी दान करें, शिवराज सिंह चौहान ऐसे समय पर मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री बने हैं जब पूरे देश पर कोरोना का भारी संकट देखने को मिल रहा है, जैसा कि आप सभी लोग जानते हैं मंगलवार की आधी रात को लॉक डाउन का ऐलान कर दिया गया था, वही मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने अपने विधायकों को पत्र लिखकर इस बात की सूचना दी थी कि मध्यप्रदेश विधानसभा में 27 मार्च को कोई लेखानुदान पेश नहीं होगा, हम धन की व्यवस्था करेंगे।

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने यह कहा है कि हमको कोरोना वायरस के संकट से निपटने के लिए तैयार रहना है, मैं अपने 1 महीने का वेतन मुख्यमंत्री राहत कोष में दे रहा हूं, आपसे भी यह अपील है कि आप भी इसमें अपना योगदान दें, इन्होंने कहा कि जो भी विधायक सांसद जहां पर है वहीं पर रहें, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी के निर्देश पर हम कोरोना वायरस की महामारी से लड़ने के लिए पूरी तरह से समर्पित है, आप सभी लोग फोन के जरिए अपने अपने क्षेत्र की जनता से संपर्क करते रहिए और उनसे लॉक डाउन के नियमों का पालन करने की प्रार्थना कीजिए।

मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने अपने प्रदेश के वासियों से यह अपील की है कि वह कोरोना वायरस की जंग लड़ने में हमारा सहयोग दें और किसी भी प्रकार का पैनिक ना फैलाएं, उन्होंने कहा कि आप बिल्कुल भी परेशान ना हो, यदि आप लोगों को किसी जरूरी चीज की आवश्यकता है तो हम वह चीज आपके लिए मुहैया कराएंगे, आवश्यक चीजों की पर्याप्त व्यवस्था जरूर की जाएगी, इसके अलावा उन्होंने लोगों को यह कहा है कि वह अपने घरों से बाहर ना घूमें, जो लोग अपने घरों से निकलकर बाहर घूम रहे हैं वह सबसे बड़ी नादानी कर रहे हैं, इसकी वजह से उनकी जान खतरे में आ सकती है, इतना ही नहीं बल्कि यदि वह इस संक्रमण के चपेट में आ गए तो इसके कारण उनके घर परिवार के लोग भी खतरे में आ सकते हैं, इसी वजह से अगर आप अपने माता-पिता, भाई-बहन, बीवी-बच्चों का जीवन सुरक्षित बनाए रखना चाहते हैं तो आप सरकार द्वारा बनाए गए लॉक डाउन के नियमों का पालन करें और आप अपने घर में ही रहे, हम आपकी परेशानी समझ सकते हैं, अगर आपको किसी भी चीज की आवश्यकता पड़ेगी तो हम आप तक वह वस्तु अवश्य पहुंचाएंगे, लेकिन आप हमारा इस महामारी से लड़ने में सहयोग दीजिए।

Show More
Back to top button