ब्रेकिंग न्यूज़

कोरोना: प्लेन में अचानक छींका यात्री तो खिड़की से कूद गया पायलट, जाने आगे क्या हुआ

कोरोना वायरस (Corona Virus) के चलते पूरी दुनिया भय के माहोल में जी रही हैं. हर कोई खुद को इस भयानक वायरस से बचाकर रहना चाहता हैं. इस चक्कर में लोगो ने सोशल डिस्टेंस रखना भी शुरू कर दिया हैं. कोरोना के खौफ से जुड़ा ऐसा ही एक मामला हाल ही में एयर एशिया इंडिया की पुणे-दिल्ली फ्लाइट I5-732 में भी देखने को मिला हैं. दरअसल इस प्लेन में उस समय कोहराम मच गया जब यात्रियों को पता चला कि उनके प्लेन में एक कोरोना संदिग्ध व्यक्ति भी सफ़र कर रहा हैं. ऊपर से माहोल और भी भयावह तब हुआ जब एक यात्री प्लेन में जोर से छींक दिया. इससे यात्री तो छोड़िए प्लेन चलाने वाला पायलट ही इतना घबरा गया कि खुद को बचाने के लिए वो कॉकपिट के सेकेंडरी एक्जिट या इमरजेंसी गेट यानी खड़की से बाहर कूद गया. आइए इस पुरे मामले को विस्तार से जानते हैं.

जानकारी के मुताबिक प्लेन की पहली पंक्ति में बैठे एक यात्री को छींक आ गई थी. ऐसे में आमतौर पर सामने वाले गेट से उतरने वाला पायलट लैंडिंग के बाद कॉकपिट के इमरजेंसी गेट यानी खिड़की से छलांग मारकर प्लेन के बहार कूद गया. आपकी जानकारी के लिए बता दे कि ये एक स्लाइडिंग विंडो होती है जिसके माध्यम से पायलट बाहर निकला था. दरअसल प्लेन में कोरोना से संक्रमित एक संदिग्ध यात्री की सूचना मिली थी. यह जानकारी मिलने के बाद प्लेन में बैठे यात्री और प्लेन का क्रू घबरा गया था. यही वजह थी कि एक यात्री के छिकने के बाद प्लेन के पायलट ने मुख्य द्वार की बजाए इमरजेंसी एग्जिट से बाहर निकलना ही सही समझा.

ये घटना 20 मार्च की बताई जा रही हैं. घटना के बाद सभी यात्रियों का टेस्ट भी किया गया जो कि नेगेटिव आया. सुरक्षा के लिहाज से सभी यात्रियों को भी पिछले दरवाजे से उतारा गया था. एयर एशिया इंडिया के एक प्रवक्ता के अनुसार विमान को पूरी तरह से साफ़ कर कीटाणु रहित किया गया हैं. वे कहते हैं कि हमारे चालक दल हर तरह की प्राकृतिक आपदाओं के लिए पूर्ण रूप से प्रशिक्षित हैं. इसलिए वे मौजूदा परिस्थितियों के अनुसार यात्रियों की अच्छे से सेवा करते हैं.

आपकी जानकारी के लिए बता दे कि लगभग पूरी दुनियां में अपने पैर पसार चुका कोरोना वायरस एक महामारी का रूप लेता जा रहा हैं. दुनियाभर के वैज्ञानिक इस वायरस को मारने वाली मेडिसिन तैयार करने में लगे हुए हैं. भारत में अभी तक कोरोना के 396 पॉजिटिव मामले दर्ज हो चुके हैं. इसके साथ ही इंडिया में कोरोना की वजह से मरने वालो की संख्या सात तक पहुँच चुकी हैं. मुंबई से लेकर दिल्ली तक कई शहरों में लॉकडाउन भी कर दिया गया हैं. कल 22 मार्च को पुरे देश की आवाम ने पीएम मोदी के आदेश पर जनता कर्फ्यू भी लगाया था. इस दौरान सभी शहर की सड़के सुनसान दिखाई दी थी. लोग घरो में अपनी स्वेच्छा से कैद थे. भारत में फिलहाल कोरोना वायरस दूसरी स्टेज पर हैं. इसलिए ये बेहद जरूरी हैं कि इसे तीसरी स्टेज में ना पहुचने दिया जाए.

Note: Images are symbolic

Show More

Related Articles

Back to top button