बॉलीवुड

बचपन से शादी तक इस घर में बड़ी हुई सलमान की बहन अर्पिता, तस्वीरों में देखे सुनहरी यादें

मुंबई के बांद्रा इलाके में आपको कई बड़ी बॉलीवुड हस्तियों के मकान देखने को मिल जाएंगे. इन सितारों के ये बंगले देखने में बड़े आलिशान और विशाल हैं. हालाँकि इस इलाके में सलमान खान का गैलेक्सी अपार्टमेंट भी हैं. सलमान वर्तमान में बॉलीवुड के सबसे बड़े सितारें हैं. वे एक फिल्म का 60 करोड़ रुपए तक ले लेते हैं. उनके पास करोड़ो अरबों की दौलत हैं लेकिन फिर भी वे किसी बड़े बंगले की बजाए पुराने दिखने वाले गैलेक्सी अपार्टमेंट में रहना पसंद करते हैं. इस अपार्टमेंट के तीसरे और चौथे माले पर सलमान खान का पूरा परिवार रहता हैं. इसकी वजह ये हैं कि सलमान खान के पिता सलीम खान इस मकान में पिछले कई सालों से रह रहे हैं. इस मकान से उनकी कई सारी यादें जुड़ी हुई हैं. ये मकान उन्हें बेहद प्रिय हैं. बस इसी वजह के चलते सलमान खान किसी नए और बड़े बंगले में शिफ्ट नहीं होते हैं.

आपकी जानकारी के लिए बता दे कि सलमान खान की छोटी बहन अर्पिता खान का बचपन भी इस घर में बिता हैं. अर्पिता के अतिरिक्त सलमान, अरबाज़, अलविरा और सोहेल खान भी इसी मकान में पले बड़े हैं. अर्पिता सलीम खान की सगी बेटी नहीं हैं. उन्हें वे फूटपाठ से उठाकर लाए थे. सलीम ने अर्पिता को अपनी सगी बेटी जैसा पाल पोश कर बड़ा किया हैं. उन्होंने अपने बेटो को भी यही सिखाया है कि वे अर्पिता में कोई भेदभाव ना करे. यही वजह हैं कि वर्तमान में सलमान अपनी बहन अर्पिता को जान से भी ज्यादा प्यार करते हैं.

गैलेक्सी अपार्टमेंट से अर्पिता खान की कई दिलचस्प बातें जुड़ी हुई हैं. उनके बचपन से लेकर उनकी शादी तक सबकुछ इसी घर से हुआ हैं. शादी के बाद अर्पिता जिस घर में रहती हैं वो भी सलमान खान ने उन्हें तोहफे में दिया हैं. यहाँ वे अपने पति आयुष शर्मा और एक बेटा व एक बेटी के साथ रहती हैं.

अर्पिता को गैलेक्सी अपार्टमेंट में गोद लेने वाले परिवार से बहुत प्यार मिला हैं. अर्पिता एक हिंदू लड़की हैं लेकिन फिर भी सलीम खान ने कभी उसे इस्लाम धर्म कबूलने के लिए फ़ोर्स नहीं किया. बल्कि वे तो अर्पिता को हर हिंदू त्यौहार बड़ी धूमधाम से मनाने देते थे. इस तरह अर्पिता गैलेक्सी अपार्टमेंट में दिवाली भी मनाती थी और ईद भी सेलिब्रेट करती थी.

अर्पिता को गोद लेने के पीछे भी बड़ी दिलचस्प कहानी हैं. दरअसल सलमान के पिता सलीम रोज सुबह घुमने जाया करते थे. यहाँ फूटपाथ पर उन्हें अक्सर एक लड़की और उसकी माँ दिख जाया करती थी. वे रोजाना इन दोनों को खाना दे दिया करते थे. एक दिन उन्होंने देखा कि बच्ची की माँ मर गई हैं और वो उसके पास बैठी रो रही हैं. ऐसे में सलीम ने उस बच्ची को घर ले आना सही समझा. इसके बाद अर्पिता को वे अपनी सगी बेटी जैसा पालने लगे.

सलीम ने जिस तरह अपने सगे बच्चों को पढ़ाया लिखाया और सुख सुविधाएं दी ठीक वैसा ही व्यवहार अर्पिता के साथ भी किया गया. बस यही वजह हैं कि गैलेक्सी अपार्टमेंट अर्पिता की सुनहरी यादों में से एक हैं.

Related Articles

Back to top button