ब्रेकिंग न्यूज़

अर्धसैनिक बल के जवानों पर दंगाइयों ने घर के ऊपर से फेंका तेजाब, इलाज़ के GTB अस्पताल ले जाया गया

दिल्ली के करावल नगर में नागरिकता संशोधन अधिनियम (सीएए) के दंगाइओं द्वारा अर्धसैनिक बलों पर 25 फरवरी को तेजाब फेंका है। यह अर्धसैनिक बल स्थिति को नियंत्रित करने के लिए तैनात किए गए थे।

रिपोर्ट के अनुसार, हिंसा प्रभावित क्षेत्रों में कॉलोनियों में प्रवेश करने की कोशिश कर रहे अर्धसैनिक बलों पर एसिड जैसे रसायन से हमला किया गया, जिसके परिणामस्वरूप उन्हें जलने का घाव हुआ । फिर उन्हें इलाज के लिए जीटीबी अस्पताल ले जाया गया।

मुसलमान दंगाइयों ने छतों से अर्धसैनिक बलों पर तेजाब फेंका गया, जबकि अर्धसैनिक बल स्थिति को नियंत्रित करने की कोशिश कर रहे थे। CAA के विरोध में मुस्लिम भीड़ अब दंगे पर उतारू हो गए हैं और पुलिस और अर्धसैनिक बालों पर हमला करने से पीछे नहीं हट रहे हैं।

रिपोर्टर ने दावा किया कि दंगाई भीड़ अच्छी तरह से सशस्त्र है और पूर्वोत्तर दिल्ली के बड़े हिस्से में हिंसा जारी है। २ दिन पहले (24 फरवरी) को शाहरुख नाम के एक उपद्रवी को दिल्ली पुलिस के एक सिपाही पर गोली चलाते हुए पकड़ा गया था।

दिल्ली पुलिस के एक बयान के अनुसार, एक हेड कॉन्स्टेबल रतन लाल ने अपनी जान गंवा दी और 56 पुलिस कर्मियों को चोटें आईं, जिनमें डीसीपी अमित शर्मा शामिल थे, जिन्हें सिर में गंभीर चोट लगी थी। पुलिस हेड कॉन्स्टेबल रतन लाल की मौत भी गोली लगने की वजह से हुई थी ।

नागरिकता संशोधन अधिनियम (CAA) को लेकर उत्तरी पूर्वी दिल्ली में शहर में टकराव प्रभावित क्षेत्रों में शूट-ऑन-साइट का आदेश दिया गया है । दंगाइयों को देखते ही गोली मारने के आदेश नॉर्थ ईस्ट जिले में जारी किए गए हैं, जहां दंगाइओं ने चंद बाग और भजनपुरा सहित कई इलाकों में बाहनों और दुकानों को आग लगा दी। दिल्ली में यमुना विहार इलाके में दिल्ली पुलिस के एसपी द्वारा शूट-ऑन-विज़न ऑर्डर की घोषणा की गई है । घोषणा में, एसपी ने कहा कि दिल्ली के उत्तर पूर्व जिले के चार क्षेत्रों में कर्फ्यू लगाया गया है और शूटिंग के आदेश भी जारी किए गए हैं।

Show More

Related Articles

Back to top button
Close