90 प्रतिशत लोग पानी पीते समय करते हैं ये 5 बड़ी गलतियाँ, कहीं आप भी तो नहीं बिगाड़ रहे अपनी सेहत

हेल्थ साइंस के अनुसार हमारी बॉडी का 75 प्रतिशत हिस्सा पानी हैं. यही वजह हैं कि जीवित रहने के लिए पानी पीना बहुत जरूरी होता हैं. एक व्यक्ति को दिन में 8 से 10 ग्लास पानी जरूर पीना चाहिए. बॉडी में पानी की पर्याप्त मात्रा रहती हैं तो शरीर स्वस्थ रहता हैं. ये पानी हमारे शरीर के विभिन्न अंगों तक न्यूट्रीशन ले जाने का काम भी करता हैं. दिन में कितना पानी पीना चाहिए ये बात तो आप में से कई लोगो को पहले से भी पता होगी, लेकिन क्या आप जानते हैं कि हमे किस तरीके से पानी नहीं पीना चाहिए? जी हाँ गलत तरीके से पानी पीना आपकी सेहत को नुकसान पहुंचा सकता हैं. पानी पीते समय लोग जाने अंजाने में कई ऐसी गलतियाँ कर जाते हैं जो बाद में उन्हें भारी पड़ सकती है.

यदि आप गलत तरीके से, गलत वक्त पर और गलत मात्रा में पानी पीते हैं तो आपको कुछ साइड इफेक्ट्स या हेल्थ प्रॉब्लम का सामना करना पड़ सकता हैं. इनमें पेट रोग, मधुमेह (डायबिटीज), ब्लड प्रेशर, आलस, सिरदर्द, किडनी समस्यां और शरीर का भारीपन जैसी समस्याएं शामिल हैं. एक स्वस्थ शरीर यदि सही मात्र में पानी का सेवन करता हैं तो वो 24 घटने के अंदर करीब 750ml – 1 लीटर यूरिन बाहर निकालता हैं. तो चलिए जानते हैं कि आपको पानी पीते समय कौन कौन सी गलतियाँ करने से बचना चाहिए.

सुबह खाली पेट पानी नहीं पीना

सुबह उठने के बाद खाली पेट पानी पीना आपकी सेहत के लिए लाभकारी होता हैं. आर्युवेद में भी यही बात कही गई हैं. जहाँ तक संभव हो सुबह खाली पेट बिना ब्रश किए पानी पीना चाहिए. ये पानी यदि गर्म या गुनगुना हो तो और भी फायदा करता हैं. सवेरे खाली पेट पानी पीने से ये हमारे शरीर में मौजूद टॉक्सिन्स (व्यर्थ या विशेले पदार्थ) को आसानी से बाहर निकाल शरीर की अच्छे से सफाई कर देता हैं. इससे कब्ज की समस्यां भी दूर होती हैं. इतना ही नहीं खाली पेट गर्म पानी पीने से आपकी बॉडी का मेटाबॉलिज्म बढ़ता हैं. इस कारण वजन कम करने में भी आसानी हो जाती हैं. जब आप सोते हैं तो मसल्स रिलेक्स मोड में चले जाते हैं लेकिन सुबह गर्म पानी पीने से ये एक्टिव हो जाते हैं. इस तरह आप तरोताजा एवं फुर्तीला महसूस करते हैं.  इसलिए बेहतर यही होगा कि आप सुबह उठकर चाय कॉफ़ी की तरफ ना दौड़े और खाली पेट गर्म पानी का सेवन करे.

प्लास्टिक बोतल से पानी गटकना

प्लास्टिक सिर्फ पर्यावरण ही नहीं बल्कि आपके शरीर के लिए भी नुकसानदायक होता हैं. लोग अक्सर दूकान से प्लास्टिक की बोतल खरीद पानी पी लेते हैं या घर से पानी ले जाना हो तो भी प्लास्टिक की बोतल का ही उपयोग करते हैं. ऐसा करना आपके शरीर को नुकसान पहुंचा सकता हैं. यूनिवर्सिटी ऑफ सिनसिनाटी में प्रकाशित एक रिपोर्ट के अनुसार प्लास्टिक में बिसफेनॉल-ए या बीपीए, पॉलिथिलीन टेपेफथालेट केमिकल और फैथालेट जैसे तत्व पाए जाते हैं. ये सभी तत्व शरीर के लिए हानिकारक होते हैं. इसलिए बेहतर यही होगा कि आप प्लास्टिक की बजाए स्टील या तांबे की बोतल का इस्तेमाल करे.

भोजन के दौरान या तुरंत बाद पानी पीना

कई लोग खाते समय या खाना समाप्त होने के तुरंत बाद ही पानी गटक जाते हैं. ऐसा करना आपकी बॉडी के लिए सही नहीं होता हैं. जब आप भोजन कर तुरंत पानी पी लेते हैं तो इसके पोषक तत्व बॉडी अच्छे से अब्जॉर्व नहीं कर पाती हैं. वहीं दूसरी ओर यदि आप भोजन और पानी के मध्य एक घंटे का गेप रखते हैं तो इस दौरान आपके द्वारा खाए गए खाने के सभी पोषक तत्वों को बॉडी अच्छे से अब्जॉर्व कर लेती हैं. इसके अतिरिक्त भोजन के बाद जल्दी पानी पीने से गैस और एसिडिटी की प्रॉब्लम होने के चांस भी बढ़ जाते हैं. इसलिए भोजन करने के एक घंटे या कम से कम 30 मिनट बाद ही पानी पिए.

जबरदस्ती या ज्यादा पानी पीना

शरीर में पानी की कमी नहीं होनी चाहिए. ये बात कुछ लोग इतना सीरियसली ले लेते हैं कि हर थोड़ी देर पर पानी पीने लगते हैं. कुछ तो प्यास ना लगे तो भी ढेर सारा पानी गटक जाते हैं. वहीं कुछ अपनी भूख को मिटाने के लिए पानी पीना पसंद करते हैं. ये सभी चीजें गलत हैं. जब भूख लगे तब आप खाना खाए और जब प्यास लगे तब पानी पिए. पानी न तो कम पीना हैं और ना ही ज्यादा पीना हैं. इसे आपको अपनी जरूरत के हिसाब से ही पीना हैं. जानकारों की माने तो अधिक पानी पीना आपकी किडनी की वॉट होल्ड करने की पॉवर को कम करने लगता हैं, ये चीज फ्यूचर के लिए हानिकारक होती हैं. यदि ऐसा होता हैं तो चक्कर आना, उल्टी आना, सूजन, वजन बढ़ना और रक्त संचार कम होना इत्यादि समस्याएं आपको परेशान कर सकती हैं.

एक ही घुट में एवं खड़े होकर पानी पीना

कई लोगो की आदत होती हैं कि वो पानी अपने होठो से लगाकर नहीं पीते हैं. वे ऊपर से एक ही सांस में गटागट पानी पी जाते हैं. वहीं कुछ खड़े होकर पानी पीना पसंद करते हैं. आर्युवेद की माने तो आपको हमशा ग्लास से मुंह लगाकर ही पानी पीना चाहिए. पानी हमेशा बैठकर पिए. इसे चाय जैसा आराम से रुक रुक कर पीना चाहिए. एक ही बार में या जल्दी जल्दी नहीं पीना चाहिए. ये गलतियाँ करने से आपकी किडनी में समस्याएं हो सकती हैं. खड़े होकर या एक ही सांस में पानी पिने से ये अच्छे से फिल्टर होकर किडनी तक नहीं पहुँचता हैं. ऐसे में किडनी में इन्फेक्शन होने का खतरा बढ़ जाता हैं. जब आप खड़े होकर पानी पीते हैं तो ये सीधा आपके पाचन तंत्र पर जोर देता हैं जिससे वो कमजोर बन सकता हैं. नतीजन आपको कब्ज और एसिडिटी हो सकती हैं. इतना ही नहीं खड़े होकर पानी पीना कोलेस्ट्रॉल बढ़ने और दिल की समस्यां होने के चांस बढ़ा देता हैं.

अब आप अच्छे से जान चुके हैं कि आपको कैसे पानी नहीं पीना हैं और किस तरह पानी जरूर पीना हैं. इस संबंध में अधिक जानकारी के लिए आप किसी एक्सपर्ट की सलाह भी ले सकते हैं. ये जानकारी पसंद आई हो तो इसे दूसरों के साथ शेयर जरूर करे.

Share this