ब्रेकिंग न्यूज़

सीएए का विरोधियों पर बरसे ठाकरे, पत्थर का जवाब पत्थर से और तलवार का जवाब तलवार से दिया जाएगा

नागरिकता संसोधन बिल को लेकर देश के कई हिस्सों में अभी भी प्रदर्शन जारी है, जिसको लेकर राज ठाकरे ने एक बड़ा भाषण दिया है। जी हां, रविवार को राज ठाकरे हिंदुत्व के मोड में नजर आए हैं, जिसके बाद उन्होंने CAA के विरोध में प्रदर्शन कर रहे मुसलमानों पर तीखा हमला बोला। राज ठाकरे के इस भाषण के बाद सियासी हलचलें तेज़ हो गई हैं, लेकिन उनके इस बयान को नए अंदाज से लिया जा रहा है। खैर, फिलहाल ये जानना ज्यादा ज़रूरी है कि उन्होंने आखिर अपने बयान में क्या कहा?

रविवार को आजाद मैदान में भारी संख्या में मौजूद लोगों को संबोधित करते हुए राज ठाकरे ने मुसलमानों के खिलाफ जमकर मोर्चा खोला। उन्होंने अपने भाषण में यह तक कह डाला कि अब एक बार देश की सफाई ज़रूरी है। मतलब साफ है कि जिस राज ठाकरे के लिए शिवसेना जानी जाती थी, वह राज ठाकरे लंबे समय के बाद एक्शन में आया है। ऐसे में उनका यह भाषण सोशल मीडिया पर तेज़ी से वायरल हो रहा है।

देश की सफाई है ज़रूरी

भारी संख्या में मौजूद लोगों को संबोधित करते हुए राज ठाकरे ने कहा कि मुसलमानों को भारत में जो स्वतंत्रता मिली है, दूसरे किसी देश में ऐसी स्वतंत्रता नहीं है। जिस देश ने इतना दिया है उसको बर्बाद करने पर क्यों तुले हो? इसके अलावा उन्होंने कहा कि जो देश से प्रेम करने वाला और मराठी मुसलमान हैं, उन्हें जागरुक करना चाहिए, ताकि देश में शांति रहे। इसके अलावा उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार को एक बार देश में सफाई करने की ज़रूरत है। अभी सीएए-एनआरसी के विरोध में निकाले जा रहे मोर्चो का उत्तर मोर्चे से दिया जा रहा है। यदि ये उन्माद इसी तरह चालू रहा तो पत्थर का जवाब पत्थर से और तलवार का जवाब तलवार से दिया जाएगा।

एकजुट हों हिंदू

हिंदुत्व की बात करते हुए राज ठाकरे ने कहा कि पाकिस्तान में हिंदुओ पर अत्याचार हो रहे हैं, ऐसे में हमें उनके लिए आवाज उठानी चाहिए ? क्या हम सिर्फ दंगों के लिए ही एकजुट होते हैं? तो क्या हमें हिंदू बनने के लिए दंगों का इंतजार करना पड़ेगा। उन्होंने आगे कहा कि भारत में सीएए का इसलिए विरोध हो रहा हैं क्योंकि पड़ोसी देशों के मुसलमानों को भी भारत में नागरिकता देने के लिया यहां के मुसलमान मांग कर रहे हैं । हम उन्हें कैसे भारत में रहने का मौका दे भारत कोई धर्मशाला नहीं ।

भारत कोई धर्मशाला नहीं

अपने भाषण को आगे बढ़ाते हुए उन्होंने कहा कि भारत कोई धर्मशाला नहीं है। हमने कोई मानवता का ठेका नहीं लिया है। इस दौरान उन्होंने एनआरसी का मुद्दा उठाया और कहा कि कई हिंदुओं और दलित समाज के लोगों के पास कुछ सबूत नहीं हैं, लेकिन मेरा कहना है कि ये लोग अपने ही देश के हैं, तो इनसे सबूत नहीं मांगा जाएगा, बल्कि सबूत तो घुसपैठिओं से मांगा जाएगा, ऐसे में देश में भ्रम फैलाना का भी काम हो रहा है।

मौलवी रच रहे हैं साजिश

राज ठाकरे ने आगे कहा कि मौलवी देश में साजिश रच रहे हैं, जिसकी जानकारी बहुत ही जल्द अमित शाह को दूंगा। इस दौरान उन्होंने कहा कि महाराष्ट्र की पुलिस को 48 घंटे की खुली छूट दें, जिसके अपराधियों की खैर नहीं।

Back to top button