नई बहुओं को बेडरूम में ऐसे सोना चाहिए, पति खुश होगा, सास से खूब जमेगी

वास्तु शास्त्र का इतिहास बहुत पुराना हैं. भारत में इसे सबसे ज्यादा फॉलो किया जाता हैं. वास्तु का मतलब सिर्फ घर की चीजों का सही दिशा में बनना मात्र नहीं होता हैं. इसके अलावा भी इससे कई सारी चीजें जुड़ी हुई हैं. जैसे आप घर में किस दिशा में सोते हैं ये भी बहुत अधिक महत्व रखता हैं. गलत दिशा में सोने से घर में मतभेद बढ़ जाते हैं. पति पत्नी के बीच दूरियां आती हैं तो बाकी घर वालों से लड़ाई झगड़े होने लगते हैं. खासकर घर में आने वाली नई दुल्हन के सोने की दिशा बहुत महत्त्व रखती हैं. यदि आप अपने सोने की दिशा का ख्याल रखते हैं तो आपको परिवार में दुःख या परेशानी का सामना नहीं करना पड़ेगा. तो चलिए फिर बिना किसी विलम्ब के जान लेते हैं कि हमें घर में किस दिशा में सोना या नहीं सोना चाहिए.

1. शादीशुदा महिलाओं को घर के वायव्य कोण (उत्तर और पश्चिम दिशा के मध्य के कोण) में सोने से बचना चाहिए. इसकी वजह ये हैं कि इस जगह सोने से वे घर से अलग होकर अपना खुद का नया घर बनाने का सपना देखने लगती हैं. हालाँकि कुँवारी लड़कियों कि इस वायव्य कोण में सोना चाहिए, इससे उनके विवाह के चांस बढ़ जाते हैं.

2. घर में सबसे पावरफुल पार्ट दक्षिण होता हैं. इसलिए घर की बड़ी औए वृद्ध महिलाओं को दक्षिण दिशा में ही सोना चाहिए. इससे घर में सभी के मध्य प्रेम और आपसी तालमेल बना रहता हैं. उनकी बातें घर में सभी सुनते हैं. इसके अलावा सेहत की दृष्टि से भी ये दिशा अच्छी मानी जाती हैं.

3. शादीशुदा जोड़े को हमेशा बेडरूम में एक ही गद्दे पर सोना चाहिए. यदि विवाहित जोड़ा रोजाना अलग अलग गद्दे पर सोता हैं तो उनके रिश्ते में दरार आ सकती हैं. इसलिए जहाँ तक कोशिश हो डबल बेड पर एक ही गद्दा रखे.

4. यदि आप अपने दाम्पत्य जीवन में हमेशा सुखी रहना चाहते हैं तो पत्नी को हमेशा अपने पति के बायीं तरफ सोना चाहिए. इसकी वजह ये हैं कि बीवी को हस्बैंड का बायां अंग माना जाता हैं. वहीं पति अपनी पत्नी का दायाँ पार्ट होता हैं. इस तरह सोने से आपके दाम्पत्य जीवन में संतुलन बना रहता हैं.

5. दक्षिण और पूर्व के बीच का कोण आग्नेय कोण कहलाता हैं. घर की छोटी महिलाओं या नवविवाहित बहुओं को आग्नेय कोण में सोने से हर हाल में बचना चाहिए. इसकी वजह ये हैं कि इस कोण में सोने वाली महिला का मनमुटाव दक्षिण दिशा में सोने वाली महिलाओं (वरिष्ठ महिलाओं) से होता हैं. घर में सास बहू की लड़ाई से बचने के लिए नई नवेली या छोटू बहुओं को आग्नेय कोण में नहीं सोना चाहिए. इसे ना सिर्फ सास बल्कि पति भी खुश रहेगा.

6. घर की उत्तर और पश्चिम दिशा में अंघेरा नहीं होने देना चाहिए. यदि ऐसा होता हैं तो इसका नेगेटिव असर आपकी आर्थिक स्थिति पर पड़ता हैं. इस दिशा में अँधेरा रखने से आपकी खुशियों को दूसरों की नज़र लग जाती हैं.

आपको ये जानकारी अच्छी लगी हो तो इसे दूसरों के साथ शेयर करना ना भूले.

Share this