ब्रेकिंग न्यूज़

वीडियो: अफजल गैंग को अनुपम खेर का जवाब! कहा – ‘क्या आप घर में बहन##..यूज करते हैं.. क्या अपने बाप को चुप रह भोस#के बोलते हैं…. नहीं न!

नई दिल्ली – लोकतंत्र में सबको बोलने की आजादी है, विशेष तौरपर भारत में। यहां तो फ्रीडम ऑफ स्पीच के नाम पर कुछ अफजल प्रेमी गैंग देश विरोधी नारे लगाते हैं और देश के टुकड़े करने कि भी बात करते हैं। अभिव्यक्ति या फ्रीडम ऑफ स्पीच जरुरी तो है लेकिन किस हद तक? यह एक बड़ा सवाल है। यहां कुछ लोग फ्रीडम ऑफ स्पीच के नाम पर देश के प्रधानमंत्री तक को गाली देते हैं और कोई कुछ नहीं बोलता। अलबत्ता कुछ नेता इसका फायदा उठाने के लिए उनका सपोर्ट भी करते हैं। लेकिन जयपुर में आयोजित साहित्य समारोह में अनुपम खेर ने ऐसा जवाब दिया कि सबकी बोलती बंद हो गयी। Anupan khair on freedom of speech.

फ्रीडम ऑफ स्पीच के नाम पे देश नहीं बांट सकते –

जेएनयू में जब कन्हैय्या ने देशद्रोही नारे लगाये तो कुछ लोग समर्थन में आए कुछ विरोध में, इसे भी फ्रीडम ऑफ स्पीच कहा गया। इसके बाद मामला आया डीयू में अफजल प्रेमी गैंग कन्हैया कुमार के सहयोगी खालिद और शाहिला रहील की पिटाई के बाद शहीद कि बेटी गुरमेहर द्वारा एबीवीपी के विरोध का, इसे भी फ्रीडम ऑफ स्पीच कहा गया। अब सवाल यह उठता है कि क्या हम फ्रीडम ऑफ स्पीच के नाम पर कुछ भी बोलते रहेंगे या दुसरों को बोलने देंगे। यह एक ऐसा मुद्दा बनाता जा रहा है जिसपर शायद अब गंभीर कदम उठाना जरुरी हो गया है।

 

असहिष्णु गैंग वापस आ गया, बस इनके नारे बदल गए –

एबीवीपी का विरोध कर रही गुरमेहर कौर पर अनुपम खेर ने इशारों में कहा है कि असहिष्णु गैंग वापस आ गया है, चेहरे वहीं हैं बस उनके नारे बदल गए हैं। फिल्म अभिनेता अनुपम खेर ने ट्वीट किया, “असहिष्णु गैंग फिर से वापस आ गया है। चेहरे सारे वही हैं, नारे बदल दिए गए हैं।”

मशहूर अभिनेता और अपनी तीखी टिप्पणी के प्रसिद्ध अनुपम खेर ने आज जयपुर में आयोजित साहित्य समारोह में देश विरोधी नारे लगाने वालों और उनके समर्थन देने वाले आकाओं से ऐसा सवाल पुछा की सबकी बोलती बंद हो गई। अनुपम खेर ने कहा, ‘क्या आप घर में बहन….यूज करते हैं… क्या अपने बाप को चुप रह भोस….के बोलते हैं…. नहीं न! तो फिर फ्रीडम ऑफ स्पीच के नाम पे आप देश को गाली कैसे दे सकते हैं।’

देखें अनुपम खेर की बेबाकी से कैसे हुई अफजल प्रेमियों की बोलती बंद –

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Close