अध्यात्म

शनि देव को प्रसन्न करने के लिए करें यह रामबाण उपाय , जीवन से दूर हो जाएंगे हर कष्ट

शनिवार के दिन हनुमान जी की पूजा करना लाभदायक माना जाता है। इस दिन हनुमान जी की पूजा करने से दो कथाएं जुड़ी हुई हैं। पहली कथा के अनुसार शनिदेव और हनुमान के बीच एक बार युद्ध हुआ था और इस युद्ध में हनुमान जी ने शनिदेव को पराजित कर दिया था। युद्ध के दौरान हनुमान द्वारा शनिदेव पर किए गए प्रहारों के कारण शनिदेव को बेहद ही चोट पहुंची और उनके शरीर में पीड़ा होने लगी। शनिदेव को पीड़ा में देख हनुमान जी से रहा नहीं गया और उन्होंने सरसों का तेल शनिदेव के शरीर पर लगाया ताकि उनकी पीड़ा दूर हो सके। सरसों का तेल लगाने से शनिदेव को दर्द से आराम मिल गया। जिसके बाद शनिदेव ने हनुमान जी से ये वादा किया की जो लोग हनुमान जी की पूजा करेंगे। मैं उन्हें जीवन में कभी भी परेशान नहीं करुंगा और उनपर शनिदेव की वक्र दृष्टि का असर नहीं होगा।

दूसरी कथा के अनुसार रावण ने सभी ग्रहों को अपना कैदी बना रखा था और शनिदेव को जेल में उल्टा लटका रखा था। जब हनुमान द्वारा लंका में आग लगाई गई तो उस समय शनिदेव सहित सभी ग्रह रावण की कैद से रिहा हो गए थे। हालांकि कई सालों तक उल्टा लटके रहने के कारण शनिदेव के शरीर में बेहद ही पीड़ा हो रही थी। शनिदेव को पीड़ा में देख हनुमान जी ने उनके शरीर की मालिश तेल से की। जिसके बाद शनिदेव ने हनुमान जी से कहा कि जो भी लोग शनिवार के दिन उनके साथ हनुमान जी की पूजा करेंगे उनपर मेरी व्रक दृष्टि नहीं पड़ेगी। इसलिए शनिदेव के प्रकोप से बचने के लिए हनुमान जी की पूजा जरूर करें। हनुमान जी की पूजा करने से और तरह के लाभ भी जुड़े हुए हैं जिनकी जानकारी इस प्रकार से है।

  • हनुमान की पूजा करने से ना केवल शनिदेव बल्कि सूर्य देव भी प्रसन्न हो जाते हैं। शास्त्रों में हनुमान जी को सूर्य देव का गुरु माना गया हैं और हनुमान जी की पूजा करने से सूर्य देव की कृपा बन जाती है और ऐसा होने पर एकाग्रता सही बनी रहती है और शरीर रोगों से मुक्त रहता है।
  • हनुमान जी के दक्षिण मुखी स्वरूप की पूजा करने से भय और डर दूर हो जाता है। इसलिए जिन लोगों के मन में सदा भय और डर रहता है वो लोग हनुमान जी के दक्षिणमुखी स्वरूप की पूजा किया करें।
  • घर-परिवार में सुख शांति बनाए रखने के लिए हनुमान जी के उत्तरामुखी स्वरूप की पूजा करें। हनुमान जी के इस स्वरुप की पूजा करने से देवी-देवता प्रसन्न हो जाते हैं और घर में सुख और शांति का वास हो जाता है।

  • बुरे सपने आने पर हनुमान जी के चरणों में सिंदूर चढ़ाएं और इस सिंदूर को एक लाल रंग के कपड़े में बांधकर अपने तकिये के नीचे रख दें। ऐसा करने से बुरे सपने नहीं आएं। इसके अलावा रात को सोने से पहले हनुमान चालीसा का पाठ करना भी उत्तम होता है।
  • मंगलवार के दिन हनुमान को तेल अर्पित करने से हर कामना पूरी हो जाती है।

Related Articles

Back to top button