Video: दुल्हा साईकिल से बारात लेकर आया और दुल्हन को आगे डंडे पर बैठा घर ले गया, वजह चौका देगी

भारतीय शादियों में जब तक शो ऑफ नहीं होता हैं तब तक लोगो के पेट का खाना भी हजम नहीं होता हैं. खासकर आज के सोशल मीडिया के जमाने में तो लोग शादी ब्याह में कुछ ज्यादा ही खर्चा कर देते हैं. हर कोई बस यही दिखाता हैं कि हमारी शादी बहुत भव्य हैं. हम तुम से बेहतर हैं. हालाँकि पंजाब के भटिंडा स्थित रामनगर गांव में एक ऐसी शादी हुई हैं जिसने शादी में होने वाले फिजूल खर्च के खिलाफ एक नई मिसाल कायम की हैं. साथ ही इस शादी ने लोगो और समाज को एक नेक संदेश भी दिया हैं.

दरअसल हाल ही में इंटरनेट पर एक तस्वीर बड़ी ही वायरल हो रही हैं. इस तस्वीर में एक दुल्हा अपनी दुल्हन को सिकिल पर बैठा के ले जा रहा हैं. आमतौर पर दुल्हा अक्सर दुल्हन को ब्याह के बाद कार में बैठा ले जाता हैं. कई लोग तो इस काम के लिए हेलिकॉप्टर तक बुलवा लेते हैं. वहीं दूसरी ओर गुरबख्शीश सिंह नाम का एक व्यक्ति साईकिल पर बारात लेकर आता हैं और उसी साईकिल पर अपनी दुल्हन को बैठा घर भी ले जाता हैं.

दरअसल गुरबख्शीश को पर्यावरण से बहुत लगाव हैं. इसके साथ ही वे समाज सेवा का काम भी करते हैं. अपनी शादी में साईकिल का इस्तेमाल कर वे समाज को पर्यावरण संरक्षण के प्रति जागरूक करना चाहते थे. इसके साथ ही शादी में होने वाले फिजूल खर्च और तड़क भड़क को भी वे बेमतलब का बताते हैं. वे लोगो को दिखाना चाहते थे कि कम खर्च और सिंपल तरीके से भी शादी की जा सकती हैं.

गुरबख्शीश का जब शादी का रिश्ता तय हुआ था तो उन्होंने अपने ससुराल वालो से स्पष्ट कह दिया था कि वे बारात लेकर साईकिल से ही आएँगे. जब लड़की पक्ष ने इसकी हामी भर दी इसके बाद ही वे शादी के लिए तैयार हुए. इतना ही नही शादी वाले दिन जितने भी बाराती थे वे भी साईकिल से ही आए थे. इसके साथ ही इन लोगो ने शादी में कोई बैंड बाजा नहीं बजाया और ना ही पटाखे फोड़े. वे नॉइज़ प्रदुषण और वायु प्रदुषण का भी ख्याल रख रहे थे.

गुरबख्शीश का रिश्ता उनके गाँव से 40 किलोमीटर दूर वीरखुर्द में रमनदीप कौर नाम की लड़की से तय हुआ हैं. बीते गुरुवार इन दोनों की शादी थी. ये शादी समारोह दुल्हे के घर से 20 किलोमीटर दूर ठूठियांवाली नामक गाँव में था. ऐसे में दुल्हा अपनी बारात साईकिल चलाते हुए ही वहां ले गया. इसके साथ ही विदाई के बाद दुल्हन को भी साईकिल पर बैठा घर लाया.

साईकिल वाली ये शादी अब चर्चा का विषय बनी हुई हैं. लोग इन दोनों की खूब तारीफ़ कर रहे हैं. गुरबख्शीश ने साबित कर दिया कि वो पर्यावरण संरक्षण की सिर्फ बातें ही नहीं करते बल्कि उसे रियल लाइफ में प्रैक्टिकली भी फॉलो करते हैं.

वैसे आप लोगो को साईकिल से बारात ले जाते का ये आईडिया कैसा लगा हमें कमेंट सेक्शन में जरूर बताए. साथ ही ये स्टोरी पसंद आई हो तो दूसरों के साथ शेयर भी करे. इस तरह सभी जागरूक होंगे.