बहू को घर में बेटी की तरह रखने से मिलते हैं ये गज़ब के फायदें, सासुमाँ जरूर पढ़े

कहते हैं बहू घर की लक्ष्मी होती हैं. उसका मान सम्मान जरूर होना चाहिए. लेकिन कुछ लोगो का ये भी मानना हैं कि एक बहू कभी बेटी नहीं बन सकती हैं. उसे ससुराल में बेटी जैसा प्यार मिलना बहुत मुश्किल या नामुमकिन होता हैं. हालाँकि यदि आप इस बात को लेकर कुछ प्रयास करे तो आपको कई ख़ास लाभ मिल सकते हैं.

1. मान सम्मान: यदि आप अपनी बहू को बेटी की तरह ही प्यार और इज्जत देगी तो बदले में आपको भी पूरा मान सम्मान मिलेगा. कहते हैं ताली दो हाथ से ही बजती हैं. यदि आप किसी के साथ बुरा व्यवहार करते हैं तो सामने वाला आपने मुंह से फूल तो नहीं बरसाएगा. इसलिए अपनी बहू से बड़े आदार और प्यार से बात करे. फिर देखिये कैसे आपको बदले में भर भर के दिल से इज्जत मिलती हैं.

2. केयरिंग: यदि आप घर में बहू का ख्याल बेटी की तरह रखेंगे तो वो भी आप की सच्चे मन से देखभाल करेगी. आप ये बात भी समझिए कि आपकी बेटी तो एक दिन अपने ससुराल चली जाएगी. बेटा भी कामकाज में उलझा रहेगा ऐसे में बुढ़ापे की सेवा बहू ही अच्छे से कर सकती हैं. इसलिए ये जरूरी हैं कि आप भी घर में बहू की जरूरतों को समझे और उससे हर काम प्यार से करवाए. यदि वो बीमार पड़ती हैं तो आप भी उसका ख्याल रखे. कम से कम उसे जरूरत या पसंद के सामान खरीदने से रोके नहीं. ऐसे में जब आपको उसकी आवश्यकता होगी तो वो सिर्फ दिखावे के लिए नहीं बल्कि दिल से आपकी सेवा करेगी.

3. तारीफ़: हर सास को समाज में अपनी इज्जत प्यारी होती हैं. वो नहीं चाहती कि उसका नाम अपने समाज और आसपड़ोस में बदनाम हो. अब औरतों की आदत तो आप अच्छे से जानते ही हैं. जब वो बुराई करने भिड़ती हैं तो सब कुछ उगल देती हैं. हालाँकि यदि आप में कोई बुराई होगी ही नहीं तो वो भला आपकी चुगली क्यों करेगी? बल्कि आप में अच्छाई हुई तो वो जगह जगह आपकी तारीफों के पूल बांधेगी. इसलिए अपनी बहू से घर में बेटी जैसा अच्छा व्यवहार ही करे. इंसान प्यार और इज्जत का ही भूखा होता हैं. आप भी अपनी बहू से यही उम्मीद रखते होंगे कि वो आपके साथ अच्छा व्यवहार करे. बस इसलिए आप इज्जत देंगी तो बदले में आपको भी मिलेगी. आप बहू की तारीफ़ करेंगी तो वो भी आपकी करेगी.

4. हर बात मानना: हर सास यही चाहती हैं कि उसकी बहू मेरी हर बात माने. हालाँकि इसके लिए आपको भी बहू की बातें माननी होगी. मसलन उसकी आज़ादी या किसी अन्य चीज को लेकर आप रोकटोक ना करे. इन बातों से बहुएं सबसे ज्यादा चिढ़ती हैं. जिस तरह आप ने घर में बेटियों को आज़ादी दे रखी हैं ठीक वैसे ही बहू को भी दे. आखिर वो भी एक इंसान हैं. ये उसका घर हैं कोई जेल खाना तो नहीं हैं. यकीन मानिए यदि आप उसकी कोई बात मान लेगी तो इस बात के चांस अधिक हैं कि बाद में वो भी आपका कहा मान लेगी. फिर भले उसे थोड़ा एडजस्ट करना पड़ जाए.