शादी के बाद लड़कियों को होता हैं इन 3 चीजों का पछतावा, ससुराल वाले जरूर पढ़े

वैसे तो हर लड़की का सपना होता हैं कि एक दिन उसकी शादी बड़ी धूमधाम से हो और उसे अपने सपनो का राजकुमार मिल जाए. हालाँकि जब शादी हो जाती हैं और वो अपने ससुराल में कुछ दिन गुजारती हैं तो उसके मन में शादी करने का पछतावा भी रहता हैं. भले लड़की को अपनी पसंद का लड़का मिला हो लेकिन जब ससुराल में एक छत के नीचे बाकी लोगो के साथ रहते हैं तो प्यार व्यार छूमंतर हो जाता हैं. तब अपनी डेली लाइफ का आराम याद आता हैं. जो शादी के पहले हुआ करता था. ऐसे में आज हम आपको वे 3 चीजें बता रहे हैं जिनका पछतावा हर लड़की को शादी के बाद होता हैं.

1. आजादी:

शादी के बाद लड़कियों की आज़ादी ख़त्म हो जाती हैं. वो अपने मम्मी पापा के घर में जितने खुलेपन और बिना रोकटोक के जो काम किया करती थी उन्हें ससुराल में करना मुश्किल होता हैं. मसलन अपनी पसंद के कपड़े पहनना, दोस्तों के साथ घुमने फिरने जाना, डांस सिंगिंग जैसी एक्टिविटी करना या अपनी पसंद की चीजें खरीदना. इन कामो को करने के लिए उन्हें ससुराल में या तो पाबन्दी होती हैं या फिर बार बार पूछना पड़ता हैं जिसे लेकर लड़ाई झगड़े का माहोल बनता हैं. ऐसे में लड़कियां सोचती हैं कि इससे तो मैं शादी नहीं करती वो ही अच्छा था.

2. करियर:

शादी के पहले लड़की जो चाहे वो फिल्ड में करियर चुन सकती हैं. जिस शहर जाना चाहे वहां जाकर जॉब कर सकती हैं. उसके ऊपर घर की और बच्चों की कोई जिम्मेदारी भी नहीं होती हैं. इस तरह वो करियर पर फोकस कर आगे बढ़ती चली जाती हैं. हालाँकि शादी के बाद उसके करियर में कई रुकवाटे आ जाती हैं. कुछ ससुराल वाले बहू को जॉब नहीं करने देते हैं. कोई नौकरी के लिए मान भी जाए तो उनकी शर्त होती हैं कि बहू फलाने शहर में बाहर नहीं जाएगी या ज्यादा रात तक काम नहीं करेगी. कुछ को बहू को किसी ख़ास फिल्ड में काम नहीं करने देना होता हैं. ऐसे में लड़की बस यही सोचती हैं कि शादी नहीं करती तो शायद वो आज करियर के बड़े मुकाम पर होती. हर बार पत्नियों को ही एडजस्ट करना पड़ता हैं. हस्बैंड नहीं करते हैं.

3. कामकाज:

यदि कोई लड़की अपने घर में नाजो से पाली बड़ी हैं या काम करने में आलस करती हैं तो वो ससुराल जाकर सुखी नही रहती हैं. उसे अपने ससुराल में कई सारे काम खुद करने पड़ते हैं. परिवार बड़ा हो तो कामकाज और भी बढ़ जाता हैं. कुछ मामलो में पत्नियाँ घर के वही काम रोज रोज कर बोर हो जाति हैं. ससुराल में तो वो काम ना करने से खुल के मना भी नहीं कर सकती हैं. जबकि शादी के पहले जब मायके में थी तो काम का मन ना होने पर फट से मना कर दिया करती थी. इन स्थितियों में लड़की यही सोचती हैं कि शादी के बाद मैं नौकरानी बन गई हूँ, इससे तो शादी ना करती तो ही अच्छा था.

इस बारे में आपकी क्या राय और अनुभव हैं हमारे साथ कमेंट बॉक्स में जरूर शेयर करे.