जानिये कौन होंगे यूपी में बीजेपी के सीएम कैंडिडेट, विकीलीक्स फॉर इंडिया की सनसनीखेज रिपोर्ट!

अब चुनाव केवल अच्छे काम और वादों से नहीं जीता जाता अब चुनाव जीतने के लिये बहुत से फैक्टर्स काम करते हैं, उन फैक्टर्स को ध्यान में रखते हुये रणनीति बनती है और फिर चुनावी मैदान में शतरंज की बिसात बिछती है. जिसमें मोहरे डाले जाते हैं, कार्यकर्त्ता तो होते ही हैं स्टार प्रचारक और चेहरे भी अहम् भूमिका निभाते हैं.

2014 के लोकसभा चुनावों ने पूरी चुनावी प्रक्रिया को बदल कर रख दिया, अब एक चेहरे का होना ज्यादा जरूरी हो गया है जिसके दम पर चुनाव लड़े या जीते जाते हैं. वोटरों को सिर्फ वादे नहीं उन वादों को पूरा करने वाला दृढ चेहरा भी देखना है.

ऐसे में यूपी चुनाव में सभी राजनैतिक दल अपने अपने सीएम उम्मीदवार उतार चुकी हैं. वहीँ बीजेपी ने अभी तक अपने पत्ते नहीं खोले हैं. लेकिन बीजेपी भी कोई कच्ची खिलाडी नहीं है.

विकीलीक्स फॉर इंडिया की रिपोर्ट :

विकीलीक्स फॉर इंडिया नाम के एक वेब पोर्टल की रिपोर्ट के मुताबिक बीते दिनों बीजेपी और राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ के नेताओं ने एक गुप्त मीटिंग की थी जिसका उद्देश्य उत्तर प्रदेश के लिये सीएम कैंडिडेट का नाम तय करना था.

मीटिंग में बीजेपी ने स्मृति ईरानी के लिये पक्ष रखे तो आरएसएस ने योगी आदित्यनाथ के पक्ष में. बीजेपी ने बताया कि आखिर क्यों पीएम मोदी स्मृति ईरानी को उत्तर प्रदेश की जिम्मेदारी देना चाहते हैं तो वहीँ दूसरी तरह आरएसएस ने भी योगी आदित्यनाथ से जुडी जमीनी रिपोर्ट दी. और उनके प्रभाव पर चर्चा की. आरएसएस ने बताया कि योगी आदित्यनाथ को सीएम कैंडिडेट बनाने के क्या फायदे हैं.

वैसे तो अभी तक बीजेपी की तरफ से किसी भी नाम का ऐलान नहीं किया गया है लेकिन जल्द ही बीजेपी अपने सीएम कैंडिडेट के नाम और चेहरे का खुलासा कर सकती है.

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

error: Content is protected !!