समाचार

नेपाल से ISI एजेंट शमसुल होदा गिरफ्तार, कानपुर रेल हादसे का जिम्मेदार है होदा!

कानपुर और देश में हुए कुछ दूसरे रेल हादसों के मामले में संदिग्ध पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी आइएसआइ के एजेंट शमशुल हुडा को दुबई से वापस भेजे जाने के बाद त्रिभुवन अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे से गिरफ्तार कर लिया गया. आपको बता दें कि यह हादसा पिछले साल 2016 में नवंबर माह में हुआ था. नेपाल पुलिस के एक विशेष दल ने शमशुल हुडा को तीन अन्य लोगों के साथ गिरफ्तार किया है.

हुडा को भारत लाने की तैयारी:

अब शमशुल हुडा को भारत लाने की तैयारी की जा रही है. फिलहाल, एनआईए, रॉ और सीबीआई की टीम आतंकी होदा से पूछताछ के लिए नेपाल पहुंच चुकी है. आतंकी होदा पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी आईएसआई के लिए काम करता है और उसी के इशारे पर उसने दुबई में बैठकर पुखरायां रेल हादसे को अंजाम दिया जिसमें 150 से ज्यादा लोगों की मौत हुई थी. भारतीय जांच एजेंसियों को कानपुर रेल हादसे में साजिश के अहम सबूत मिले थे. नेपाल से गिरफ्तार ब्रिज किशोर गिरी के फोन से एक ऑडियो क्लिप मिला था.

ऑडियो क्लिप में कानपुर रेल हादसे की साजिश की बातचीत है. नेपाल पुलिस ने एनआईए समेत तमाम जांच एजेंसियों को आडियो क्लिप सौंप दिए हैं. एनआईए ने हाल में तीन एफआईआर दर्ज की हैं. गिरफ्तार शमसूल होदा अभी नेपाल पुलिस की गिरफ्त में है.

पुलिस की ओर से बताया गया कि शमशुल होदा नेपाल के बारा जिले में हुए दोहरे हत्याकांत का मास्टरमाइंड भी है. नेपाल पुलिस के डीआईजी पशुपति उपाध्याय ने बताया होदा के अंतरराष्ट्रीय आपराधिक समूहों से संबंध हैं, वह नेपाल और भारत में कई आपराधिक वारदातों में शामिल है. उस पर एक केस नेपाल के बारा जिले में पहले से ही दर्ज है. पुलिस उप महानिरीक्षक (डीआईजी) पशुपति उपाध्याय ने बताया कि हुडा को कल त्रिभुवन अंतरराष्ट्रीय हवाईअड्डे से हिरासत में लिया गया।

उन्होंने कहा, ‘‘हमें जानकारी थी कि गत वर्ष कानपुर में हुए एक रेल हादसे में हुडा वांछित है। इस हादसे में 150 लोगों की मौत हो गई थी।’’  उपाध्याय ने कहा, ‘‘भारत में आपराधिक गतिविधियों में हुडा की कथित संलिप्तता के मामले में भी नेपाल पुलिस भारत की पुलिस के साथ करीबी समन्वय के साथ काम करेगी।’’ बिहार पुलिस ने अपनी जांच में तीन संदिग्धों को गिरफ्तार किया था. आरोपियों ने कबूल किया था कि उन्हें नेपाल के एक शख्स ब्रजेश गिरी से 3 लाख रुपए मिले थे.

Back to top button