नौकरी करने वाली महिलाओं को अक्सर झेलना पड़ती हैं ये 6 परेशानियां, पुरुष जरूर पढ़े

आज के जमाने में लगभग हर महिला का सपना होता हैं कि वो भी नौकरी करे, अपने पैरो पर खड़ी हो जाए और खुद की कमाई से अपने शौक पूरा करे. जब एक महिला कमाती हैं तो उसे घर या ससुराल में पैसो के लिए हाथ नहीं फैलाना पड़ता हैं. हालाँकि नौकरी करने वाली महिलाओं की जिंदगी इतनी भी आसन नहीं होती हैं. उन्हें इस दौरान कई तरह की परेशानियां झेलनी पड़ती हैं. उनकी इस परेशानियों का संबंध पुरुष वर्ग से भी होता हैं. ऐसे में हम चाहते हैं कि हर मर्द नीचे बताए गए पॉइंट्स को पढ़े, महिलाओं की समस्याओं को अच्छे से समझे और इसका हल निकालने में मदद भी करे.

1. महिलाओं के ऊपर ये लेबल लगा दिया गया हैं कि घर के सभी काम जैसे साफ़ सफाई, खाना बनाना इत्यादि वो ही करेगी. मर्द इन कामो में हस्तक्षेप करना पसंद नहीं करता हैं. यही सोच जॉब करने वाली महिलाओं की सबसे बड़ी परेशानी बनती हैं. उन्हें घर के काम और ऑफिस के काम दोनों ही एक दिन में निपटाने होते हैं. ऐसे में वे बहुत थक जाती हैं. यदि घर के मर्द भी घरेलु कामो में हाथ बटाने लगे तो महिलाओं की इस समस्यां का हल हो सकता हैं.

2. जिन महिलाओं के बच्चे होते हैं उन्हें नौकरी के साथ थोड़ी परेशानी जरूर होती हैं. एक बच्चे को माँ की जरूरत होती हैं. जब छोटा हो तो बहुत ख्याल भी रखना पड़ता हैं. हालाँकि घर के पुरुषों को भी बच्चो की देखरेख में ध्यान देना चाहिए. उनकी भी उतनी ही जिम्मेदारी होती हैं.

3. महिला जब ऑफिस में होती हैं तो उन्हें कई तरह के फ़ालतू कमेंट सुनने को मिलते हैं. लड़कियों के ऊपर घर और काम का वैसे ही बहुत प्रेशर होता हैं ऊपर से लोग उनके मजे लेते हैं, फ़्लर्ट करते हैं, ‘औरतें ऑफिस के काम ठीक से नहीं कर सकती’ ऐसे कमेंट मारते हैं. ऑफिस में कई पुरुष वर्ग महिलाओं के साथ अच्छा व्यवहार भी नहीं करते हैं. उनके साथ किसी ना किसी बात में भेदभाव भी हो जाता हैं. हमें ऑफिस में यह सोच बदलनी होगी.

4. एक महिला जब जॉब करती हैं और यदि पति से ज्यादा कमाने लगती हैं तो उसके आत्मसम्मान पर ठेस पहुँचती हैं. फिर उसे पत्नी का नौकरी करना खटकने लगता हैं. ऐसे में हस्बैंड को अपनी सोच ठीक कर पत्नी के लिए खुश होना सीखना चाहिए.

5. ससुराल में अक्सर लड़कियों को जॉब करने के लिए कई पापड़ बेलने पड़ते हैं. पहले तो उन्हें मानना पड़ता हैं. यदि वे राजी हो भी जाए तो हर कुछ दिन में ससुराल वालो के ताने सुनने पड़ते हैं. जैसे नौकरी वाली हो गई अब घर के काम ठीक से नहीं करती, जॉब से इतना लेट आती हैं, नौकरी करेगी तो पंख लग जाएंगे, बिगड़ जाएगी इत्यादि. यह सोच भी बदलने की आवश्यकता हैं.

6. महिलाओं को अपनी पसंद कि नौकरी करने के लिए भी संघर्ष करना पड़ता हैं. कई बार घर वाले कोई विशेष नौकरी करने पर रोक लगा देते हैं. शहर से बाहर जॉब के लिए नहीं जाने देते हैं. इस तरह महिलाओं की तरक्की नहीं हो पाती हैं.