शनिदेव का नाम लेकर शनिवार को करे ये 3 काम, बड़ी से बड़ी मुसीबत भी घुटने टेक देगी

मुसीबत एक ऐसी चिडियां हैं जो कभी ना कभी हर किसी के घर पर आकर बैठती हैं. कहने का मतलब ये हैं कि दुःख और परेशानी सभी के जीवन में आती हैं. ऐसे में सभी का प्रयत्न तो यही होता हैं कि इस मुसीबत की चिड़िया को जितना जल्दी हो सके उड़ा दे. हालाँकि ये इतना आसन भी कहाँ होता हैं. इसके लिए कई तरह के पापड़ बेलने पड़ते हैं. ऊपर से यदि आपका बुरा भाग्य चल रहा हो तो गरीबी में आटा गिला होने वाली बात हो जाती हैं. इस स्थिति से निपटने का फिर एक ही रास्ता शेष रह जाता हैं, और वो हैं शनिदेव की कृपा. शनिदेव एक ऐसी भगवान हैं जो लोगो की लाइफ से मुसीबतें गायब करने के लिए जाने जाते हैं. बस एक बार जिन्हें इनका आशीर्वाद नसीब हो जाता हैं उसकी सभी समस्याएं स्वतः ही समाप्त होने लगती हैं. शनिदेव को प्रसन्न करने का एक तरीका ये भी हैं कि आप शनिवार के दिन उना नाम लेते हुए ये तीन काम करे.

सरसों के तेल का दान

शनिदेव को पूजा में सरसों का तेल चढ़ाया जाता हैं. ये तेल उनका प्रिय हैं. यदि आप शनिवार के दिन सरसों के तेल का दान करते हैं तो ये आपके लिए बेहद लाभकारी साबित हो सकता हैं. यह दान किसी को भी किया जा सकता हैं. मसलन किसी गरीब को, ब्राहमण को या फिर किसी मंदिर में भी इसे दिया जा सकता हैं. एक बात का ध्यान रखे कि जब भी आप सरसों के तेल का दान करे तो हमेशा काले रंग के वस्त्र ही पहने. इससे आपकी लाइफ की हर मुसीबत और नेगेटिविटी दूर हो जाएगी.

कौए को खाना:

शनिवार के दिन कौए को भोजन कराना बेहद लाभकारी माना गया हैं. कौआ शनिदेव का वाहन भी होता हैं. यदि आप ने किसी कौए को खुश कर दिया तो आपके दुश्मन आपका कुछ भी नहीं बिगाड़ पाएंगे. इसके साथ ही आपके जीवन की मुसीबतें धीरे धीरे कम होने लगेगी. इसके लिए आप कौए को चावल खिलाए. हालाँकि बाकी कुछ और भोजन भी खिला सकते हैं. ये काम करने के बाद एक बार शनिदेव के दर्शन अवश्य करे. चाहे तो इस दौरान उन्हें अपनी समस्यां भी बतला सकते हैं.

लोहा का खरीदना या बेचना:

शनिवार के दिन लोहे से बनी वास्तु खरीदना या उसे बेच देना बुरे समय को दूर भेज देता हैं. ऐसा कहा जाता हैं कि आपको शनिवार के दिन घर में नया लोहा लाना चाहिए. वहीं घर का पुराना लोहा बेच देना चाहिए. इससे आपके घर ई पनौती चली जाती हैं. आपको एक नया मौका मिलता हैं.

तो दोस्तों ये थे वे तीन काम जिन्हें आपको शनिवार के दिन जरूर करने चाहिए. आप इन्हें एक ही शनिवार कर सकते हैं या फिर अलग अलग शनिवार करे. एक बात याद रहे कि यह सारे स्वच्छ मन से ही करे. यदि इसे करते समय आपको हिचक हो रही हैं या फिर आपके मन में कंजूसी का भाव उत्पन्न हो रहा हैं तो इसे ना करे. वैसे शनिवार के दिन ये काम करने के अलावा आप शनिदेव के नाम का व्रत भी रख सकते हैं. इससे आपका फायदा डबल हो जाएगा.