‘पत्नी बनाएगी खाना, तो पति धोएगा कपड़े और रविवार को..’, ऐसे सुलझा पति-पत्नी के बीच का झगड़ा

आजकल के मॉडर्न जमाने में ‘वर्किंग शादीशुदा कपल’ होना एक आम बात हो चुकी है, जिसकी वजह से पति पत्नी के बीच छोटी छोटी बातों पर भी बड़ी बड़ी बहस हो जाती है। कई बार ये बहस इतनी ज्यादा हो जाती है कि सुलझाने वालों के पसीन छूट जाते हैं और मामला कोर्ट तक भी जा पहुंचता है। ऐसा ही एक मामला मध्यप्रदेश से सामने आ रहा है, जिसे सुलझाने में सबके पसीने छूट गए, लेकिन बाद में एक समझौते के तहत पूरा मामला सुलझा। इतना ही नहीं, पति और पत्नी एक दूसरे की बात तक सुनने को तैयार नहीं थे, लेकिन जब हल मिला, तो दोनों ने एक बार फिर से अपनी ज़िंदगी की शुरुआत की।

मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल में एक ‘वर्किंग शादीशुदा कपल’ के बीच अनबन धीरे धीरे बढ़ने लगी और एक दिन दोनों ने ही रिश्ता खत्म करने का फैसला किया। अनबन भी दोनों के बीच घर के काम को लेकर हुई, जिसमें पति और पत्नी की अपनी अपनी दलीलें थी, जिसके बाद पूरा मामला काउंसलर के पास पहुंचा और तब जाकर दोनों को एक सॉलिड समाधान मिला। इस सॉलिड समाधान के बाद दोनों के रिश्ते में फिर से मिठास आई और मामला तलाक तक पहुंचने से बच गया।

किस बात पर हुई अनबन?

पति ने अपने शिकायत में कहा कि मेरी पत्नी वर्किंग है, जिसकी वजह से वह मुझे टिफिन नहीं बनाती है और शाम को जब घर आती है, तो खाना भी नहीं बनाती है। इतना ही नहीं, पति ने इसके अलावा कहा कि जब भी घर पर कोई रिश्तेदार आता है, तो पत्नी थकी हुई होती है और वह खाना बनाने से मना कर देती है, जिसकी से खाना होटल से मंगवाना पड़ता है। वहीं दूसरी तरफ पत्नी का कहना है कि ऑफिस में वर्कलोड होने की वजह से वह थक जाती है और फिर खाना नहीं बना पाती है, जिसकी वजह से दोनों के बीच झगड़ा होने लगता है।

ऐसे सुलझा पति-पत्नी का झगड़ा

अपने रिश्ते को दूसरा मौका देने के लिए पति और पत्नी काउंसलर के पास जा पहुंचे, जहां दोनों ने अपनी बात रखी और फिर काउंसलर रीता ने दोनों के बीच काम का बंटवारा करके मामला सुलझा दिया। रीता ने कहा कि यदि पत्नी खाना बनाएगी, तो पति कपड़े धोएगा और प्रेस करेगा, जिससे दोनों का लोड कम होगा। साथ ही रविवार को पति खुद पत्नी को खाना बनाकर खिलाएगा और ऐसा नहीं हुआ तो दोनों बाहर जाकर खाएंगे, लेकिन घर के काम में हाथ बटाना होगा।

घर के काम में हाथ बटाना चाहिए

मैरिज काउंसलर रीता ने इस झगड़े को सुलझाने के बाद एक बयान दिया, जिसमें उन्होंने कहा कि यदि पति और पत्नी दोनों ही वर्किंग हैं, तो पति को भी घर के काम में हाथ बटाना चाहिए, इससे रिश्ते में दरार नहीं आती है और बात तलाक तक भी नहीं पहुंचती है। रीता का कहना है कि कामकाज के बंटवारे को ज्यादातर कपल ने माना है और उनकी ज़िंदगी अब खुशहाली से बित रही है।