बॉलीवुड

‘पृथ्वीराज चौहान’ में पूर्व मिस वर्ल्ड ही बनेंगी अक्षय की पत्नी, 18 साल छोटी हैं मानुषी छिल्लर

जब कोई मॉडल अपने करियर की शुरुआत करता या करती है तो उनका एक ही सपना होता है कि आगे चलकर वे बड़ा सितारा बन जाए। उनकी एक्टिंग की लोग तारीफ करें और ऐसा ही पूर्व मिस वर्ल्ड मानुषी छिल्लर भी चाहती हैं और उन्हें एक बड़ा मौका भी बॉलीवुड में मिल गया है। बॉलीवुड गलियारों से खबरें आ रही हैं कि मानुषी छिल्लर को बॉलीवुड की इस फिल्म में काम करने का मौका मिला है। ‘पृथ्वीराज चौहान’ में पूर्व मिस वर्ल्ड ही बनेंगी अक्षय की पत्नी, 22 साल की मानुषी इश्क लड़ाएंगी 51 साल के अक्षय कुमार के साथ पहली बार पर्दे पर नजर आएंगी।

‘पृथ्वीराज चौहान’ में पूर्व मिस वर्ल्ड ही बनेंगी अक्षय की पत्नी

डायरेक्टर चंद्रप्रकाश द्विवेदी की आने वाली फिल्म ‘पृथ्वीराज चौहान’ की कास्टिंग लगभग तय हो चुकी है। फिल्म में अक्षय पृथ्वीराज का किरदार निभाएंगे और फिल्म में मुख्य विलेन मोहम्मद गौरी के रोल में मानव विज नजर आएंगे। यह फिल्म पृथ्वीराज चौहान के पराक्रम को दिखाने में अहम साबित हो सकती है लेकिन बड़ा हिस्सा पृथ्वीराज और कन्नौज की राजकुमारी संयोगिता की प्रेम कहानी का भी होगा, जिसका उल्लेख चौहान के दोस्त और कवि चंद बरदाई ने अपने महाकाव्य पृथ्वीराज रासो में किया गया है।

कुछ रिपोर्ट्स के मुताबिक, संयोगिता के किरदार के लिए मिस वर्ल्ड मानुषी चिल्लर को कास्ट कर लिया गया है और ये बात पूरी तरह से कंफर्म हो चुकी है। अगर इतिहास पर यकीन किया जाए तौ पृथ्वीराज की 4 रानियां थीं, लेकिन फिल्म में सिर्फ दो को ही दिखाया जाएगा। इन दो रानियों का उल्लेख इतिहास में ज्यादा रहा है जिसमें से एक संयोगिता होंगी। दूसरी रानी के रोल के लिए किसी टीवी एक्ट्रेस को कास्ट किया जाएगा, और अब ये कौन होगा इसके बारे में अभी बात सामने नहीं आया है। इस फिल्म की शूटिंग राजस्थान और उत्तर भारत के कुछ दूसरे राज्यों में की जाएगी।

क्या है पृथ्वीराज-संयोगिता की प्रेम कहानी

रानी संयोगिता और पृथ्वीराज की प्रेम कहानी को काफी दिलचस्प बताया गया है। संयोगिता पृथ्वीराज के साहस और शौर्य की कहानी सुनकर उनसे प्यार करने लगती हैं, लेकिन उनके पिता जयचंद चौहान को बिल्कुल पसंद नही करते थे। जयचंद पृथ्वीराज को नीचा दिखाने के लिए संयोगिता के स्वयंवर पृथ्वीराज को आमंत्रित नहीं करते, बल्कि उनका पुतला बनाकर दरबान के रूप में मुख्य द्वार पर खड़ा कर दिया जाता है हालांकि, संयोगिता ने इसी पुतले को ही वरमाला पहनाकर पृथ्वीराज को अपना पति स्वीकार कर लेती हैं। अब अगर ऐसा सीन आप देखेंगे तो आपको ज्यादा मजा आने वाला है। फिल्म कुछ ऐसी चीजें भी आप देख पाएंगे जो शायद आपको पता भी ना हो।

Back to top button