अध्यात्म

जन्माष्टमी 2019: इन उपायों से करें भगवान श्रीकृष्ण को प्रसन्न, मिलेगा धन और यश का लाभ

कुछ ही दिनों में ही जन्माष्टमी का पर्व आने वाला है. इस बार देश-विदेश में यह त्योहार 24 अगस्त के  दिन बहुत धूम-धाम से मनाया जाएगा. लेकिन कुछ लोगों का मानना है कि जन्माष्टमी 23 अगस्त को है. इसलिए भक्तों के बीच अभी भी यह दुविधा बनी हुई है कि जन्माष्टमी का पर्व 23 अगस्त को मनाया जाए या फिर 24 अगस्त को. मान्यता की मानें तो भगवान श्रीकृष्ण का जन्म भाद्रपद यानी कि भादो माह की कृष्ण पक्ष को हुआ था, जो कि इस बार 23 अगस्त को पड़ रही है. वहीं, ज्योतिर्विदों के अनुसार भगवान श्रीकृष्ण रोहिणी नक्षत्र में जन्मे थे इसलिए जन्माष्टमी रोहिणी नक्षत्र में मनाया जाए तो सर्वोत्तम है. पंचांग के मुताबिक, रोहिणी नक्षत्र का आरंभ 23 अगस्त रात 11.56 से शुरू हो जाएगा. 23 अगस्त को रोहिणी नक्षत्र 44 घड़ी का है इसलिए कृष्ण का जन्मदिन इस घड़ी में मनाना शुभ माना गया है.

जन्माष्टमी का दिन श्री कृष्ण के भक्तों के लिए बेहद ही ख़ास दिन है. ऐसे में यदि आपकी कोई ऐसी मनोकामना है जिसे आप पूरा करना चाहते हैं, तो इस जन्माष्टमी के दिन आपको यह मौका मिल सकता है. अपनी मनोकामना को पूरा करने के लिए यह दिन बहुत शुभ माना जाता है. आज हम आपको बताने जा रहे हैं कुछ ऐसे उपाय जिसे करने से भगवान कृष्ण तो खुश होंगे ही साथ ही माता लक्ष्मी की भी कृपा बनी रहेगी.

भगवान को प्रसन्न करने के उपाय

  • अगर आपको धन की इच्छा है तो जन्माष्टमी के दिन प्रातः स्नान कर लें. स्नान के पश्चात राधा-कृष्ण के मंदिर में जाएं और पीले रंग की माला अर्पित करें. ऐसा करने पर माँ लक्ष्मी और कृष्ण भगवान खुश होंगे और उनकी कृपा-दृष्टि आप पर बनी रहेगी.
  • अगर आप भगवान कृष की विशेष कृपा पाना चाहते हैं तो कोई भी सफ़ेद रंग की मिठाई, साबूदाना या खीर को बनाकर उसमे मिश्री और तुलसी के पत्ते डालकर भगवान को भोग लगायें. ऐसा करने पर भगवान जल्दी प्रसन्न हो जाते हैं.
  • आपका कोई काम रुका हुआ है या फिर कोई ऐसा काम जिसे करने में बाधाओं का सामना करना पड़ रहा है, ऐसे में अगर जन्माष्टमी के दिन भगवान कृष्ण के मंदिर में जटा वाला नारियल और 11 बादाम चढ़ाते है, तो रुका हुआ काम शीघ्र हो जाएगा.
  • भगवान कृष्ण विष्णु के ही एक अवतार हैं. जन्माष्टमी के दिन दक्षिणावर्ती शंख में जल भरकर अगर आप भगवान कृष्ण का अभिषेक करते हैं तो, माँ लक्ष्मी और भगवान कृष्ण, दोनों प्रसन्न होंगे.

इसके अलावा भगवान कृष्ण के इन तीनो मंत्रों के उच्चारण से भी मनुष्य का जीवन खुशहाल रहेगा.

पहला मंत्र

गोवल्ल्भाय स्वहा: 7 अक्षरों वाला यह मंत्र हर कार्य में सफलता दिलाएगा.

दूसरा मंत्र

गोकुल नाथाय नमः : 8 अक्षरों वाला यह मंत्र साड़ी इच्छाओं की पूर्ति करेगा.

तीसरा मंत्र

ॐ नमो भगवते श्री गोविन्दाय: 12 अक्षरों वाले इस मंत्र से इष्टसिद्धि हो जाती है.

पढ़ें कृष्ण जन्माष्टमी पर इस बार भी दो तारीखों में उलझा जन्मोत्सव, जानिए सही तारीख और पूजा का मुहूर्त

दोस्तों, उम्मीद करते हैं कि आपको हमारा यह आर्टिकल पसंद आया होगा. पसंद आने पर लाइक और शेयर करना न भूलें.

Back to top button