इस वायरल हो रहे शर्मनाक विडियो को देखने के बाद मुलायम सिंह को “यादव” भी वोट नहीं देंगे : VIDEO

उत्तर प्रदेश की राजनीती में राम मंदिर हमेशा से एक बड़ा मुद्दा रहा है, राम मंदिर के मुद्दे ने सरकारें गिरायी हैं तो सरकारें बनाई भी फर्क सिर्फ इतना है कि कभी उसके उसके समर्थन से सरकार बनी तो कभी उसके खिलाफ वोटों का ध्रुवीकरण करके.

ऐसे में बीते दिनों मुलायम सिंह यादव ने एक बयान दिया था जो कि सोशल मीडिया पर खूब वायरल हुआ, लोगों ने जमकर अपनी प्रतिक्रियाएं दीं. सपा नेता मुलायाम सिंह ने एक कार्यक्रम में सपने संबोधन के दौरान कहा था कि अगर बाबरी मस्जिद को बचाने के लिये 16 की जगह 30 हिन्दुओं को मारना पड़ता तो भी वो मारने का आदेश दे देते.

दरअसल मुलायम सिंह बाबरी विध्वंस का जिक्र कर रहे थे, उस दौरान कथित तौर पर रामजन्मभूमि पर बनीं बाबरी मस्जिद का ढांचा गिराने के लिये आगे बढ़ रहे कारसेवकों के दल पर पर उन्होंने गोली चलाने का आदेश दिया था, तब वो उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री थे. सुरक्षा बलों को उनके आदेश का पालन करते हुये गोली चलानी पड़ी थी और उस घटना में 16 लोगों की मौत हो गई थी.

मुलायम सिंह पूरे गर्व से कहते हैं कि उन्होंने ऐसा आदेश दिया ताकि मुसलमानों का विश्वास जीत सकें. मुलायम सिंह हमेशा से तुष्टिकरण की राजनीति करते आये हैं उनकी राजनीति यादव और मुस्लिम वोटरों के इर्द गिर्द घूमती रही है, ऐसे में उनका यह बयान साफ़ झलकाता है कि वो किसी जाति या धर्म विशेष को रिझाने के लिये कठोर से कठोर कदम उठाने में भी नहीं हिचकिचाएंगे.

उनके बयान पर एक न्यूज़ रिपोर्ट-

देखिये वीडियो-

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.