कांग्रेस ने की राहुल गांधी के लिए लोकसभा में पहली कतार में सीट की मांग, मिला ऐसा करारा जवाब कांग्रेस पार्टी ने मांग की है कि राहुल गांधी को लोकसभा में पहली कतार में सीट दी जाए.

इस साल हुआ लोकसभा चुनाव 2019 कांग्रेस के लिए कुछ खास नहीं रहा. बल्कि पिछले साल की तुलना में इस साल लोगों को कांग्रेस से उम्मीदें थीं. कांग्रेस ने इस साल 53 सीटें जीती. इस बार भी कांग्रेस को नेता विपक्ष का पद नहीं मिला. कांग्रेस ने लोकसभा में पार्टी का नेता अधीर रंजन चौधरी को बनाया है. अधीर रंजन चौधरी को पश्चिम बंगाल से जीत हासिल हुई है. वह सोनिया गांधी के साथ पहली रो यानी पहली पंक्ति में बैठते हैं. अब कांग्रेस ने मांग की है कि वह राहुल गांधी को भी पहली पंक्ति में देखना चाहते हैं. लेकिन ऐसा कुछ होगा इस बात के आसार दूर-दूर तक नजर नहीं आ रहे.

लोकसभा सचिवालय ने नहीं दी अनुमति

बता दें, लोकसभा में कांग्रेस ने मांग की थी कि राहुल गांधी को पहली कतार में सीट मिले. जिसके लिए लोकसभा सचिवालय ने अनुमति नहीं दी और कहा कि सिर्फ यूपीए चेयरपर्सन सोनिया गांधी और लोकसभा में कांग्रेस के नेता अधीर रंजन चौधरी को ही पहली कतार में सीट मिलेगी. सरकार ने कांग्रेस को तर्क देते हुए कहा कि राहुल गांधी तो पार्टी के अध्यक्ष भी नहीं रहे हैं. ऐसे में उन्हें पहली नहीं बल्कि दूसरी कतार में सीट मिल सकती है.

दूसरी पंक्ति में ही बैठेंगे राहुल

बता दें, साल 2014 में जब राहुल गांधी चुनाव जीतकर आये थे तब दूसरी कतार में बैठते थे. उस समय सोनिया गांधी और मल्लिकार्जुन खड़गे पहली पंक्ति में बैठा करते थे. उस टाइम मल्लिकार्जुन खड़गे लोकसभा पार्टी के नेता हुआ करते थे. कांग्रेस पार्टी ने खड़गे को पार्टी का नेता बनाया था. तब राहुल गांधी अपने अन्य साथी सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया और दीपेंदर हुड्डा के साथ दूसरी पंक्ति में बैठा करते थे. लेकिन अब कांग्रेस चाहती है कि राहुल गांधी को पहली पंक्ति में बैठने की जगह दी जाए. लेकिन अभी हालात यही कह रहे हैं कि फिलहाल उन्हें दूसरी पंक्ति में ही बैठना पड़ेगा.

पढ़ें पांव छूने के लिये झुकी मानव बम धनु और फिर…इस तरह रची गई थी राजीव गांधी की हत्या की साजिश

पढ़ें राहुल के अध्यक्ष पद छोड़ते ही भावुक हुई ये अभिनेत्री, कहा- भगवान राम को भी छोड़ना पड़ा था…

दोस्तों, उम्मीद करते हैं कि आपको हमारा यह आर्टिकल पसंद आया होगा. पसंद आने पर लाइक और शेयर करन न भूलें.