बॉलीवुड

फिल्म लगान की स्टोरी सुन आमिर ने डायरेक्टर से कहा था- ‘आशु तुम ऐसा कैसे सोच सकते हो…’

क्रिकेट के मौसम में आमिर खान की सुपरहिट फिल्म लगान का ज़िक्र न हो तो अधूरा सा ही लगता है। फिल्म लगान में आमिर खान ने अपनी एक्टिंग से सबका दिल जीता था, तो वहीं डायरेक्टर आशुतोष गोवारिकर ने अपनी कहानी से सबको दिवाना बना लिया था। जी हां, फिल्म लगान की कामयाबी ही उसकी लोकप्रियता को दर्शाती है, जिसे आज भी लोग देखने पर बोर नहीं होते हैं। फिल्म लगान उन दिनों की सबसे सुपरहिट फिल्म थी, जिससे हर भारतीय ने बड़े चांव के साथ देखा था। तो चलिए जानते हैं कि हमारे इस लेख में आपके लिए क्या खास है?

फिल्म लगान की कहानी को लेकर डायरेक्टर आशुतोष गोवारिकर काफी उत्साहित थे, जिसकी वजह से वे खुद ही सुबह सवेरे बिना मुंह धुले ही आमिर खान के घर पहुंच गए थे। इतना ही नहीं, आमिर खान को कहानी सुनाने के लिए वे इतने बेताब थे कि उन्होंने न समय का ख्याल किया और न ही कुछ, बल्कि कहानी सुनाकर ही दम लिया। दरअसल, आशुतोष गोवारिकर का मानना था कि इस कहानी में इतना दम है कि किसी की भी नींद खुल जाती, लेकिन आमिर खान के साथ ऐसा नहीं हुआ।

पहली बार आमिर खान को पसंद नहीं आई थी लगान

फिल्म लगान की स्टोरी सुनाने के लिए भले ही आशुतोष गोवारिकर काफी ज्यादा उत्साहित थे, लेकिन आमिर खान के रिएक्शन को देखकर वे समझ गए कि अभी कहानी में और जान डालनी बाकी है, जिसकी वजह से उन्होंने आमिर खान को लंबे समय के बाद एक बार फिर कहानी सुनाई। इस कहानी को आशुतोष गोवारिकर ने बड़े ही लगन के साथ लिखा था, जिसके बाद उन्होंने पटकथा तैयार की और फिर एक बार आमिर खान से मीटिंग फिक्स करके उनसे मिलने पहुंचे तो फिर जो हुआ, उसे देखकर उनके भी होश उड़ गए।

आशु तुम ऐसा कैसे सोच सकते हो- आमिर खान

एक इंटरव्यू में आमिर खान और आशुतोष गोवारिकर ने खुलासा किया था कि जब आशुतोष गोवारिकर  इस फिल्म की स्टोरी आमिर खान के पास दोबारा लेकर गए तब उन्होंने लंबे इंतजार के बाद कहानी सुनी, लेकिन जब कहानी सुनी तो उनकी आंखे फटी की फटी रह गई, क्योंकि कहानी बिल्कुल अलग और काफी अच्छी थी। कहानी सुनने के बाद आमिर खान ने खुद आशुतोष गोवारिकर से कहा कि आशु तुम ऐसा कैसे सोच सकते हो, मुझे तो विश्वास ही नहीं हो रहा है।

गाना सुनकर रोने लगे थे आमिर खान

फिल्म लगान में गाना गाने के लिए रहमान को चुना गया था, ऐसे में जब रहमान प्रैक्ट्रिस कर रहे थे, तब आमिर बाहर ही बैठकर उनका इंतजार कर रहे थे, लेकिन गाना इतना जबरदस्त था कि आमिर खान खुद को रोक नहीं पाए। इसके बाद जब आमिर रहमान के पास गए तो उनकी आंखों में आंसू था और उन्होंने कहा कि ए.आर. क्या अदभुत अहसास है! मेरी फिल्म तो बन गई! इस प्रकरण का ज़िक्र रहमान ने खुद एक इंटरव्यू में करते हुए कहा कि आमिर खान की आंखों में बच्चों की तरह सच्चाई है।

Back to top button
?>