प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने की चिराग पासवान की तारीफ, Bjp सांसदों से कहा उनके सीखें और कार्य करें चिराग पासवान से इंप्रेस हुए मोदी, बाकी सांसदों को कहा सीखें कि संसद भवन में कैसे आते हैं

2019 के लोकसभा चुनाव में भाजपा ने एक बार फिर से ऐतिहासिक जीत हासिल की और देश की जनता ने एक बार फिर से नरेंद्र मोदी को देश के प्रधानमंत्री के रूप में चुना। बता दें कि इस जीत के बाद मंगलवार को पहली बार भारतीय जनता पार्टी की संसदीय दल की पहली बैठक हुई। इस बैठक में पीएम नरेंद्र मोदी ने सभी सांसदों को कुछ ऐसे कार्य करने को कहे जिससे देश का भला हो और उनको अखबारों और टीवी में आने से बचने के लिए कहा।

वहीं इस बैठक के दौरान उन्होंने लोकजनशक्ति पार्टी (एलजेपी) के सांसद चिराग पासवान की तारीफ की और पार्टी सांसदों को उनसे सीख लेने की सलाह दी। चिराग पासवान की तारीफ करते हुए उन्होंने सांसदों को उनके कार्य शैली से कुछ सीखने को कहा। पीएम मोदी ने कहा कि बाकी सांसदों को चिराग पासवान से सीखना चाहिए कि सांसद में जाने से पहले आपको किस तरह की तैयारी कर के आनी चाहिए। चिराग पासवान राम विलास पासवान के बेटे हैं।

पीएम मोदी ने चिराग का उदाहरण देते हुए कहा कि वो जब भी संसद में किसी बिल पर अपने भाषण देते हैं तो वो उसकी तैयारी पहले से करके आते है। जिससे उन्हें क्या बोलना और विपक्ष के सवालों का क्या जवाब देना है इसकी पूर्ण जानकारी होती है। चिराग पासवान की प्रशंसा करते हुए पीएम मोदी ने कहा कि वो संसद की प्रक्रिया में भाग लेते हैं और महत्वपूर्ण चर्चा में मौजूद रहते हैं। सभी सांसदों को इसी प्रकार के कार्य करना है।

बता दें कि चिराग पासवान दूसरी बार संसद पहुंचे हैं। इसके पहले साल 2014 में चिराग पहली बार सांसद बने थे और साल 2019 के लोकसभा चुनाव में जमुई सीट से उन्होंने जीत हासिल की और सांसद बने हैं। पीएम मोदी ने उनकी तारीफ की है। दरअसल मोदी ने शुरू से ही अपने संसदों को इस बारे में अवगत कराते आए हैं कि सभी अपने कार्यों के लिए सजग रहें और काम में किसी तरह की ढिलाई ना बरतें।

सांसदो से बोले जनता की सेवा करो

वहीं पीएम मोदी ने सभी सांसदो से कहा कि संसद में सिर्फ आकर बैठने से कुछ नहीं होगा, बल्कि यह एक ऐसी जगह है जहां पर आपको सीखने के लिए बहुत कुछ है। और जो यहां पर आकर कुछ सीखेगा उसको ही आगे सम्मान मिलेगा।  वहीं नए सांसदो के लिए मोदी ने कहा कि वो बयानबाजी और अखबर और टीवी में आने की बजाए देश की सेवा में जुटे और अपने संसदीय क्षेत्र में विकास कार्य पर ध्यान दें। हर बूथ में सांसद 5 पेड़ लगाएं, यानी पंचवटी। पीएम ने कहा कि अपने क्षेत्र में सांसदों की एक पहचान होनी चाहिए। प्रधानमंत्री ने नए सांसदों से कहा है कि वह अधिक से अधिक संख्या में सदन में उपस्थित रहें।

टीवी और अखबार पर आने की बजाए करें ये काम

बता दें कि शुरू से ही मोदी अपने सांसदो को इस तरह की सीख देते आ रहे हैं। और शायद यही वजह है कि उनके पार्टी के सांसद हमेश संसद में उपस्थित रहते हैं। क्योंकि यहां पर बस जीत हासिल करके कुछ नहीं होने वाला आपको खुद को साबित भी करना पड़ेगा। इससे पहले एनडीए संसदीय दल का नेता चुने जाने के बाद भी पीएम मोदी ने सांसदों को सीख दी थी। उन्होंने सांसदों से कहा था कि जीवन में कुछ करना है तो छपास और दिखास से बचना होगा। टीवी और अखबारों में आने की बजाए अपने काम पर ध्यान दें। क्योंकि काम बोलता है।

मोदी ने कहा कि हम लोग जब नये-नये आए थे, तब अटलजी और आडवाणीजी की ओर से यह सीख मिली थी। हिदायत मिली थी कि अखबार में छपने और टीवी पर दिखने से बचें। नेता कम, शिक्षक अधिक नजर आएं।