इन 5 चीजों में महिलाएं होती हैं मर्दों से आगे, आप भी जरूर जाने जाने वो कौन से काम हैं जिनमे औरते पुरुषों से आगे होती हैं

एक ज़माना था जब महिलाओं और पुरुषों में काफी भेदभाव होता था. हालाँकि अब धीरे धीरे दोनों को सामान अधिकार मिलने लगे हैं. विश्व में कई जगह महिलाओं के सशक्तिकरण को लेकर कदम उठाए जा रहे हैं. लेकिन अभी भी इस दुनियां में कुछ पिछड़ी मानसिकता के लोग हैं जो महिलाओं को पुरुषों से कम समझते हैं. लेकिन आपकी जानकारी के लिए बता दे कि महिलाएं मर्दों से कम नहीं होती हैं. बल्कि कुछ विशेष चीजें तो ऐसी होती हैं जिसमे पुरुष कम और महिलाएं ज्यादा अच्छा प्रदर्शन करती हैं. इसी बात को ध्यान में रखते हुए आज हम आपको कुछ ऐसे काम बताने जा रहे हैं जिनमे औरते हम मर्दों से हमेशा आगे ही रहती हैं. हमें पूरा यकीन हैं कि इन पॉइंट्स को पढ़ने के बाद आप भी हमारी बातों से सहमत होंगे.

ज्यादा केयरिंग:

महिलाओं के बारे में ये कहा जाता हैं कि वो मर्दों की तुलना में ज्यादा केयरिंग नेचर की होती हैं. उनका दिल ज्यादा सॉफ्ट होता हैं. वे घर और बाहर सभी की परवाह करती हैं. यदि कोई बीमार हो जाता हैं तो वे ही सबसे अधिक देखभाल करती हैं. इसके साथ ही आपके खाने पिने से लेकर अन्य चीजों में भी वो ध्यान रखती हैं.

अधिक प्यार जताना:

अपने बच्चे से प्रेम की बात को या फिर अपने पार्टनर को दिल से चाहना हो हर क्षेत्र में एक महिला पुरुषों के मुकाबले आगे ही होती हैं. एक माँ का प्यार कैसा होता हैं ये बताने की शायद जरूरत नहीं हैं. ये जग जाहिर बात हैं. वही प्रेम संबंधों में भी महिलाएं ही ज्यादा संवेदनशील और दीवानी होती हैं.

अधिक कार्यक्षमता:

जब ताकत की बात आती हैं तो हम सभी यही कहते हैं कि मर्द महिलाओं से ज्यादा स्ट्रांग होते हैं. लेकिन जब स्टेमिना या कार्यक्षमता की बात आती हैं तो महिलाओं का कोई मुकाबला नहीं होता हैं. एक पुरुष तो अपनी 8 से 10 घंटे की नौकरी के बाद ही थका हारा महसूस करने लगता हैं. फिर उससे कोई दूसरा काम नहीं होता हैं. वहीं एक महिला दिन के 16 से 18 घंटे काम ही करती रहती हैं. कामकाजी महिलाओं की बात करे तो वे अपनी जॉब के साथ घर और बच्चों की देखरेख भी करती हैं. यक़ीनन ये सभी काम एक साथ कोई पुरुष नहीं कर सकता हैं.

पढ़ाई में अव्वल:

यदि आप स्कूल और कॉलेज में आने वाली परीक्षा परिणामों पर एक नज़र घुमाएंगे तो पाएंगे कि इनमे 60 से 70 प्रतिशत लड़कियां ही टॉप करती हैं. लड़कियां पढ़ाई लिखाई को लेकर सिंसियर होती हैं. उनकी मेमोरी पॉवर भी मर्दों से तेज़ होती हैं. मसलन एक पुरुष अपनी सालगिरह की डेट भूल सकता हैं लेकिन एक महिला इसे कभी नहीं भूलती हैं.

ज्यादा प्रोटेक्टिव:

एक महिला अपने करीबी लोगो को लेकर कुछ ज्यादा ही प्रोटेक्टिव होती हैं. वे आपकी सुरक्षा और मान सम्मान के लिए पूरी दुनियां से लड़ने की ताकत रखती हैं. आप ने भी देखा होगा कि जब कोई उसके बच्चे को परेशान करता हैं तो वो कैसे शेरनी की तरह सामने वाले को फटकार देती हैं. साथ ही बातचीत वाली लड़ाई झगड़े में भी औरतों का कोई मुकाबला ही नहीं हैं.