धोखे से पाकिस्तानी लड़के ने विदेशी लड़की बुलाया अपने मुल्क, फिर इस तरह कर दी उसकी जिंदगी बर्बाद विदेशी लड़की को था सच्चे प्यार का इंतजार और उसे मिला एक पाकिस्तानी लड़का जिसके लिए वो वहां पहुंच गई लेकिन ..

सोशल मीडिया एक ऐसी जगह है जहां पर ज्यादातर लोग अपनी पहचान छिपाकर दूसरों को ठगते या बेवकूफ बनाते हैं. ओरिजनल आई और फर्जी आईडी में बहुत फर्क होता है ये बात सभी जानते हैं लेकिन फिर भी लोग बेवकूफ बन जाते हैं. कोई भी किसी को भी सोशल मीडिया पर फंसाकर झूठ बोल सकता है फिर कैसे भी लेकिन ऐसा अक्सर होता है. तभी तो एक विदेशी लड़की प्यार की तलाश में ऐसे इंसान को ढूंढ निकाली जो उसकी जिंदगी को नर्क बना दिया और किसी तरह बेचारी ने अपनी जान को बचाया. धोखे से पाकिस्तानी लड़के ने विदेशी लड़की बुलाया अपने मुल्क, इसके बाद उसके सामने ऐसी सच्चाई सामने आई कि सभी हैरान रह गए.

धोखे से पाकिस्तानी लड़के ने विदेशी लड़की बुलाया अपने मुल्क

ऑस्ट्रेलिया में रहने वाली एक खूबसूरत लड़की को सोशल मीडिया पर सच्चे प्यार की तलाश थी. उस लड़की का नाम लारा हॉल है और उसे एक लड़का मिला भी लेकिन जब उसे सच्चाई का पता चला तो देर हो चुकी थी. उस लड़की ने सोशल मीडिया पर अपनी आपबीती बताई. लारा के मुताबिक उसे सच्चे प्यार की तलाश थी और उसे एक पाकिस्तानी लड़का सज्जाद मिल गया. सज्जाद ने लारा को बुरी तरह फंसाया अपने घर की झूठी कहानी बताई और दूसरों का घर तस्वीरों में भेजता गया. फेसबुक से बात व्हाट्सएप तक पहुंच गई. सज्जाद पाकिस्तान के लाहौर का रहने वाला था और उसने अपने घर की झूठी खबर दिखाकर लारा को कई सपने दिखा दिए. लारा सच्चा प्यार पाने की आस लेकर पाकिस्तान पहुंच गई लेकिन वहां आकर उसे वो देखना और सहना पड़ा जिसे सुनकर हर लड़की की आत्मा तक कांप उठे.

दरअसल हुआ यूं कि जब लारा सज्जाद के लाहौर वाले घर पहुंची तो वहां कोई आलीशान मकान नहीं था बल्कि झोपड़ पट्टी के जैसा कुछ था और वो बहुत गंदा भी था. जब लारा वहां से वापस जाने की बात करने लगी तब सज्जाद ने अपना असली रंग लारा को दिखाया. उसने उसे मारा-पीटा और घर में बंद कर दिया, इसके अलावा उसके साथ बार-बार बलात्कार भी किया. सज्जाद उससे शादी करने का दबाव बनाते हुए उसे जबरदस्ती धर्म परिवर्तन करने को भी कहता था लेकिन लारा ने इससे साफ मना कर दिया था. इतना ही नहीं कई बार सज्जाद के भाईयों ने भी उसके साथ रेप करने की कोशिश की लेकिन लारा वहां से किसी तरह भाग निकली.

लारा इस तरह पहुंची अपने देश

इस घटना ने लारा को अंदर से बुरी तरह से तोड़ दिया लेकिन फिर भी उसने हिम्मत दिखाई और वहां से भाग निकलने में कामयाब रही. इसके बाद लारा ऑस्ट्रेलियाई वाणिज्य दूतावास और उच्चायोग से संपर्क किया लेकिन किसी ने लारा की प्रतिक्रियाओं को स्वीकार नहीं किया. इसके बाद लारा ने AFOHS क्लब के मुख्य अधिकारी डॉ. कैसर रफीक से मुलाकात की और इस घटना के बारे में सबकुछ बताया. फिर रफीक लारा को पास के स्टेशन में ले गए और वहां से ऑस्ट्रेलियाई दूतावास की मदद से पाकिस्तान छोड़ ऑस्ट्रेलिया भेज दिया. आपको बता दें कि यह घटना एक महिला के कारण शुरु हुई थी उसी ने लारा को सज्जा नाम के लड़के से लारा की बात करवाई थी और फिर वो इसमें फंस गई.