स्वास्थ्य

सावधान, आप रोज रोज करते हैं ये गलती जिसकी वजह से आपकी आँखें हो रही खराब

इस बात से हम सभी बेहतर वाकिफ हैं की मानव शरीर मे पांच ज्ञानेन्द्रियाँ होती हे जिनमे से एक होती हैं हमारी आँखे, बता दें की मनुष्य जो भी कुछ देखता हे उसे ही सच मानता और सामान्य तौर पर किसी भी चीज को समझने के लिए हमारी आँखे का बहुत महत्वपूर्ण  हे अगर आपके आँखे काम करना बंद कर दे तो आपकी पूरी जिंदगी बर्बाद हो जाएगी, आपको बता दे की आँखों का इस्तेमाल पहले भी सबसे ज्यादा हुआ करता मगर आज के समय में तमाम तरह की नई नई तकनीक और कमा की अधिकता की वजह से और भी ज्यादा बढ़ गया है। अगर आप ध्यान देंगे तो आप खुद ही देखेंगे की हम आज कल अपनी आँखों का इस्तेमाल जरूरत से ज्यादा करने लगे हैं जिसके वजह से हमारी  और हमारी आँखें हो रही खराब और इसकी वजह से आँखों को अधिक दबाव और तनाव का सामना करना पड़ता है साथ ही साथ समय से पहले ही कई तरह की समस्याएँ भी झेलनी पड़ती है। इसी सिलसिले में आज हम आपको बताने जा रहे है की कौन कौन सा काम करने से आपके आँखों पर पड़ता है बुरा प्रभाव।

ज्यादा कम्प्युटर या मोबाइल में देखने से आँखें हो रही खराब

आज हम 21वी सदी में जी रहे हैं जो तकरीबन पूरी तरह से टेक्नोलॉजी का सदी है, इस सदी मे मोबाइल और कम्प्युटर एक बहुत ही अहम रोले अदा कर रहा हे। आज कल के जमाने मे इंटरनेट इतना ज्यादा सस्ता हो गया है की प्रतेक व्यक्ति इसका भरपूर इस्तेमाल कर रहा है और जिसे जितनी जरूरत है वो उससे भी ज्यादा इस्तेमाल कर रहा। बता दें की ज्यादा देर तक मोबाइल पर लगे रहने और तमाम तरह से वीडियो, मेल, चैट आदि चीजे देखते रहने से फोन या कम्प्युटर से निकालने वाली हानिकारक किरणे हमारी आँखों पर काफी प्रभाव डालती है और इससे आँखों को क्षति भी पहुँचती है जिसके वजह से कई बार आँखों की रोशनी पर प्रभाव पड़ता है ओर आँखों की रोशनी कम कर देता है।

धूप और धूल के कण से भी आँखें हो रही खराब

इसके अलावा आप यह भी देखते होंगे की जब भी कभी आप घर से बाहर निकलते हैं तो धूल हर जगह होती है और धूप भी खासकर गर्मियों के मौसम में। लेकिन कई जगह इसका प्रकोप ज्यादा होता है जैसे और ऐसे में अगर आप गाड़ी चलाते वक़्त अपने आँखों को चश्मे से नहीं ढकते हैं या फिर हलमेट का इस्तेमाल नहीं करते हैं तो इसकी वजह से आपकी आँखों में धूल के अनगिनत कण आदि पड़ते हैं और आँखों को गंभीर क्षति पहुँचाते हैं। बता दें की ऐसा अक्सर दो पहिया वहाँ चालकों के साथ होता है जब वो रफ़्तार में चलते हैं और उस दौरान आँखों पर कोई अवरोध नहीं होने की वजह से आँखों मे कई प्रकार के धूल व कण ओर सूक्ष्म जीव जैसे उड़ने वाले कीढ़े आँखों मे जा कर विशेष नुकसान करते हैं।

क्या करें और क्या ना करे

आप अगर मोबाइल पर या कंप्यूटर ज्यादा काम करते है तो लैपटॉप के स्क्रीन के ऊपर एक ओर उव किरणों से बचने के लिए प्रोटेक्शन ग्लास लगाए जिससे कंप्यूटर से निकलने वाली हानि किरणों से आँखों से बचाव कर सकते हैं। इसके अलावा आँखों के स्वास्थ्य के लिए ज्यादा से ज्यादा हरी सब्जियों का सेवन करें जो की आँखों के लिए कफ़्फ़ी ज्यादा फायदेमंद माना जाता है।

Back to top button