मनोहर परिर्कर की हालत फिर हुई गंभीर, गोवा सरकार पर छाए संकट के बादल, CM बदलने की चर्चा तेज सीएम परिर्कर लंबे समय से पैनक्रियाज की बीमारी से परेशान हैं और उनका गोवा, मुंबई सहित अमेरिका में इलाज हो चुका है

गोवा के सीएम मनोहर परिर्कर जबसे इलाज कराकर लौटे हैं उसके बाद से लगातार अपने काम पर लगे हुए हैं। यहां तक की नाक में पाइप लगाकर उन्होंने बजट भी पेश किया और अपने बुलंद हौंसले का परिचय दिया। हालांकि उनकी हालत एक बार फिर गंभीर हो गई है। यहां तक की इस बार ऐसी स्थिति बन रही है कि उन्हें बदलने की चर्चा भी शुरु हो गई है। पार्टी के सीनियर नेता औऱ डिप्टी स्पीकर माइकल लोबो ने माना है कि पार्टी में परिर्कर की जगह किसी और को सीएम बनाने की चर्चा हुई है। हालांकि इसका फैसला रविवार को पार्टी नेताओं और विधायकों की होने वाली बैठक में लिया जाएगा।

किसी और को बना सकते हैं सीएम

माइकल लोबो ने कहा कि गोवा सीएम मनोहर परिर्कर की तबीयत को लेकर पार्टी के नेता और विधायक फिक्रमंद हैं। उन्होंने बताया कि बैठक में पार्टी के वरिष्ठ नेता भी आ रहे हैं, ऐसे में सभी मिलकर इस पर विचार करेंगे और फैसला लेंगे। इस बैठक में गोवा फार्वर्ड पार्टी और महाराष्ट्रवादी गोमंटक पार्टी के साथ गठबंधन पर भी चर्चा होगी। ऐसा माना जा रहा है कि पार्टी के किसी नेता को ही सीएम बनाया जा सकता है।

बता दें कि मनोहर परिर्कर पैनक्रियाज से जुड़ी बीमारी के कारण बहुत लंबे समय से बीमार चल रहे है। उनका सिर्फ गोवा में ही नहीं बल्कि मुंबई औऱ अमेरिका सहित कई जगहों पर इलाज हो चुका है। हालांकि उनकी हालत में कोई खास सुधार नहीं है। कुछ दिनों पहले उनकी तबीयत खराब होने की खबर सामने आई थी और कांग्रेस ने उनका हेल्थ बुलेटिन जारी करने की बात कही थी।

किस पार्टी के होंगें सीएम

दरअसल गोवा में मनोहर की बिगड़ती हालत के चलते उनकी सरकार पर भी संकट मंडरा रहा है क्योंकि कांग्रेस ने राज्यपाल मृदुला सिन्हा के सामने सरकार बनाने का दावा  पेश कर दिया है। वहीं माइकल लोबो ने कहा है कि सीएम किसे बनना है इसका फैसला पार्टी लेगी। हम अपने गठबंधन के सहय़ोगियों से बात कर रहे हैं।पहले उन्होंने कहा था कि मनोहर परिर्कर की तबीयत ठीक नहीं है और हम उनके जल्द ठीक होने की प्रार्थना कर रहे हैं,लेकिन उनके ठीक होने की उम्मीद नहीं हैं। अगर उनको कुछ भी होता है तो गोवा का अगला सीएम भी बीजेपी से ही होगा।

गौरतलब है कि 40 सदस्यीय गोवा विधानसभा में कांग्रेस सबसे बड़ी पार्टी है और उसके पास 14 विधायक है, जबकि बीजेपी के पास 13 विधायक है, जिसे महाराष्ट्रवादी गोमंतक पार्टी के 3, गोवा फार्वर्ड पार्टी के 3 और 3 निरदलीय विधायकों का समर्थन हासिल है। कांग्रेस का आरोप है कि बीजेपी अपना बहुमत खो चुकी है। अब सीएम परिर्कर की बिगड़ती हालत देख यहां दावेदारी पेश करने की कवायद भी शुरु हो गई है।

कांग्रेस ने राज्यपाल मृदुला सिन्हा को चिट्ठी लिखकर राज्य में सरकार बनाने का दावा किया है। पार्टी का कहना है कि विधायक फ्रांसिस डिसूजा के निधन के बाद से विधानसभा में बीजेपी के 13 विधायक हैं। मनोहर परिर्कर के नेतृत्व वाली सरकार के पास बहुमत नहीं है। जो पार्टी अल्पमत मे हैं उसे सरकार में रहने का कोई हक नहीं है। हम चाहते हैं कि मौजूदा सरकार को बर्खास्त किया जाए और कांग्रेस को मौका दिया जाए।

यह भी पढ़ें