सर्फ एक्सेल से थी नाराजगी, लोगो ने गूगल प्ले स्टोर पर माइक्रोसॉफ्ट एक्सेल पर निकाल दी भड़ास इससे पहले स्नैपचैट से नफरत करने वालों ने स्नैपडील को भी निगेटिव रेटिंग्स दे दी थी

टीवी पर क्रिएटिव एड बनाने वाला सर्फ एक्सल इन दिनों विवादों के घेरे में हैं। इस एड में हिंदु मुस्लिम बच्चों की दोस्ती होली के रंगो में डूबते और बचते हुए दिखाई गई है, लेकिन  कुछ लोगों न इस एड में ज्यादा दिमाग लगाकर इसका तमाम तरीके से विरोध करना शुरु कर दिया है। कुछ लोगों का कहना है कि इस एड में होली के रंग के दाग बताया गया है तो किसी का कहना है कि इसमें लव जिहाद दिखाया गया है। इन बिंदुओं पर इस एड को और सर्फ एक्सल को बॉयकाट करने की बात कही जा रही है, लेकिन सबसे हंसी और मजेदार बात तो य़े हो गई है कि सर्फ एक्सेल का बॉयकाट करने वाले विरोधी एमएस एक्सेल का विरोध करने लगे।

Microsoft Excel को मिल रहा निगेटिव रिसपॉन्स

कुछ लोगों को शायद इस पूरे विवाद के बारे में पता ही नही है इसलिए सर्फ एक्सेल का विरोध जताने की बजाय एमएस एक्सेल का विरोध जता दिया। एक यूजर ने गूगल प्ले स्टोर पर माइक्रोसॉफ्ट एक्सेल को निगेटिव रीव्यू देते हुए उसे हिंदू विरोधी बताया है। ऐसे करने वाले बहुत से लोग हैं। एक ने लिखा कि मैं एक्सेल एप को तब तक पसंद करता था जब तक इसने सर्फ बनाने वाली कंपनी के  अब साथ पार्टनरशिप नहीं की थी। अब जहां भी मुझे एक्सेल शब्द दिखाई देता है मुझे हिंदुओं के खिलाफ प्रोपेगेंडा वालों की याद आ जाती हैं।

अब ऐसे लोगों पर कुछ लोगों ने कमेंट किया है औऱ लिखा है कि जब आपको सर्फ एक्सेल औऱ माइक्रोसॉफ्ट एक्सेल में कुछ फर्क नहीं पता चलता है तो ऐसी ही गलती होती है। एक ने लिखा की मुझे तो ऐसे लोगों पर हंसी आ रही है। माइक्रोसॉफ्ट एक्सेल को लोग हिंदु विरोधी बता रहे हैं औऱ कह रहे हैं कि इसे पाकिस्तान में जाकर बिजनेस करना चाहिए।

हालांकि ऐसा पहली बार नहीं हुआ है जब किसी गलत एप को निगेटिव रेटिंग्स दी जा रही हो। इससे पहले स्नैपचैट के सीईओ ने कह दिया था की भारतीय गरीब हैं औऱ वो ज्यादा क्रिएटिव नहीं है। उनके इस बयान पर काफी लोग भड़क गए थे और स्नैपचैट का इस्तेमाल करना बंद कर दिया था। वहीं कुछ ऐसे लोग भी थे जिन्होंने स्नैपडील को निगेटिव रेटिंग्स दे दी थी औऱ उसका बॉयकाट कर रहे थे।

इस वजह से हो रहा है सर्फ एक्सेल का विरोध

बता दें कि विज्ञापन में विवाद की वजह लोग बता रहे हैं कि इसमें बच्चे रंग फेंकते हैं और एक लड़की पूरा रंग खुद पर लगवा लेती है इसके बाद वो अपने मुस्लिम दोस्त को बुलाती है और कहती है कि बाहर आ जाओं अब कोई भी रंग नहीं है। उस मुस्लिम बच्चे को असल में नमाज पढ़ने जाना रहता है। लड़की उससे कहती है कि लौटते समय रंग पड़ेगा उस पर मुस्लिम बच्चा मुस्करा कर हामी भर देता है।

इस एड में आपत्ति इस बात पर जताई गई है कि इसमें सर्फ एक्सेल कहता है कि कुछ अच्छा करने से अगर दाग लगता है तो दाग अच्छे हैं। लोगों का कहना है कि होली के पवित्र रंगो को दाग कहा गया और दूसरा ये की मुस्लिम लड़के और हिंदु लड़की को एक साथ दिखाकर लव जिहाद दिखाया गया है। ये लोग दूसरों से सर्फ एक्सेल को बॉयकाट की अपील कर रहे थे और कुछ लोग इनसे भी दो कदम आगे निकले और माइक्रोसॉफ्ट एक्सेल को ही बॉयकाट कर दिया

यह भी पढ़ें