नेपोटिज्म को लेकर सारा ने दिया बयान, बोली हम कभी भी जाकर किसी से भी…..

न्यूज़ट्रेंड एंटरटेनमेंट डेस्क: सैफ अली खान और अमृता सिंह की बेटी सारा अली खान ने फिल्म केदारनाथ से बॉलीवुड में डेब्यू किया था। सारा की बॉलीवुड में एंट्री ने धमाल मचा दिया था। सारा ने एक के बाद एक दो फिल्मों केदारनाथ और फिल्म सिंबा में काम किया और दोनों ही फिल्में बॉक्स ऑफिस पर हिट हुई थी। और अब सारा ने बॉलीवुड में अपना मुकाम हासिल कर लिया है। बात करें बॉलीवुड इंडस्ट्री की तो हमेशा से ही यहां पर नेपोटिज्म को लेकर के काफी बातें होती रहती हैं।

सारा ने भी एक इंटरव्यू में नेपोटिज्म को लेकर खुल के बातें की थी उन्होंने कहा कि, एक स्टारकिड होने का एक बड़ा फायदा ये होता है कि आपकी उन बड़े लोगों से सीधी रीच होती है जिनकी किसी और से शायद नहीं हो. सारा ने कहा, “मैं जाहिर तौर पर ये बात मानती हूं कि इंडस्ट्री में लोगों को जानना आपकी मदद करता है. ये एक ऐसा तथ्य है जिससे मैं इनकार नहीं कर सकती हूं.”

इसके साथ ही सारा ने नेपोटिज्म पर कहा, “मैं बिना कोई भी फिल्म किए करण जौहर को कॉल कर सकती हूं। मैं रोहित शेट्टी के ऑफिस जा सकती हूं। तो ये स्टार किड होने के कुछ ऐसे फायदे हैं। जिनसे मैं पूरी तरह अवगत हूं” उन्होंने कहा, “इसके अलावा एक तरह की प्रोटेक्शन होती है जिसका हम आनंद लेते हैं. पर ये कोई ऐसी चीज नहीं है जो हमने मांगी, जिसे हमने चुना, और इसका मतलब ये नहीं है कि हम कम मेहनत करते हैं और रास्ता आसान होता है।

बता दें कि बॉलीवुड में अपनी पहचान बना पाना एक कठिन काम हैं, अगर आपका कोई अच्छा लिंक नहीं है तो आपको इसमें एंट्री लेने के लिए कड़ी मशक्कत करनी पड़ती है। और वहीं जब आप एक स्टार किड होते हैं तो आपको ये स्ट्रगल नहीं करना पड़ता है। आपको आसानी से फिल्मों में काम मिल जाता है, जो किसी भी न्यू कमर को इतनी आसानी से नहीं मिल पाता है।

कंगना रनौत ने नेपोटिज्म को लेकर के कई सवाल उठाए हैं। यहां तक की उन्होंने करण जौहर पर भी नेपोटिज्म को लेकर कई आरोप लगाए। बता दें कि करण जौहर को बॉलीवुड में नेपोटिज्म का फ्लैग बियरर माना जाता है । वो बॉलीवुड के ऐसे डायरेक्टर हैं जो स्टार किड्स को लांच करते हैं। आलिया भट्ट, जाह्नवी कपूर, सिद्धार्थ और वरूण धवन इन सभी को करण जौहर ने लांच किया था। जो अब बॉलीवुड में एक बड़े मुकाम पर पहुंच गए हैं।