अध्यात्म

बाथरूम में नीले रंग की बाल्टी रखने से बदल जाती है किस्मत जाने कैसे

घर के हर हिस्से जैसे रूम, हॉल, किचन, बाथरूम और इत्यादि जगहों के लिए अलग अलग तरह का वास्तु शास्त्र के नियम होते हैं. वास्तु शास्त्र की मदद से घर के इन स्थानों पर मौजूद नकारात्मक ऊर्जा को खत्म किया जाता है और घर की सकारात्मक ऊर्जा को बढ़ाया जाता है. अक्सर लोग अपने घर के हॉल, रूम और मंदिर के वास्तु शास्त्र पर ध्यान रखते हैं और इन जगहों का वास्तु एकदम सही रखते हैं. लेकिन सचाई ये है कि इन जगहों के मुकाबले घर के बाथरूम और टॉयलेट में अधिक नकारात्मक ऊर्जा मिलती है. इसलिए ये जरूरी होता है कि आप अपने घर के बाथरूम और टॉयलेट के भी वास्तु शास्त्र पर खासा ध्यान दें और आप नीचे बाथरूम और टॉयलेट से जुड़ी वास्तु शास्त्र की बातों का ध्यान रखें.

रखें ऐसे अपने बाथरूम के वस्तु शास्त्र का खासा ध्यान

करवाएं बाथरूम में हल्का रंग

वास्तु शास्त्र के अनुसार घर के बाथरूम का रंग हमेशा हल्का होना चाहिए. सफेद रंग बाथरूम के लिए सबसे सही माना जाता है और लाल, पीला, गुलाबी जैसे रंगों  बाथरूम के लिए सही नहीं होते हैं. इसलिए आप अपने बाथरूम में केवल हल्के रंग का ही पेट करवाएं.

रखें बाथरूम का गेट बंद

बाथरूम के अंदर सबसे ज्यादा नकारात्मक ऊर्जा होती है इसलिए बाथरूम के गेट को कभी भी खुला नहीं रखना चाहिए. क्योंकि इसके गेट को खुला रखने से इसमें मौजूदा नकारात्मक ऊर्जा पूरे घर में फैल जाती है. साथ में ही अपने बाथरूम की सफाई पर भी आप खासा ध्यान रखें.

रखे नीले रंग की बाल्टी

हर बाथरूम के अंदर बाल्टी जरूर रख जाती है और वास्तु शास्त्र में बाथरूम में रखे जाने वाली बाल्टी के रंग का भी जिक्र किया गया है और इसके अनुसार बाथरूम में केवल नीले रंद की बाल्टी रखनी चाहिए. इतना ही नहीं इस बाल्टी में हमेशा पानी भरा होना चाहिए और ये पानी एकदम साफ होना चाहिए. ऐसा माना जाता है कि इस रंग की बाल्टी से घर में सकारात्मक ऊर्जा आती है.

ईशान कोण में टॉयलेट

घर के बाथरूम को बनाते समय उस उसकी दिशा पर ध्यान रखना चाहिए और बाथरूम को ईशान कोण में बनाना चाहिए. वास्तु के मुताबिक इस दिशा में  बाथरूम बनवाने से घर में धन की हानि नहीं होती है. इसके अलावा बाथरूम में रखे जाना वाला शीशा बाथरूम के दरवाजे के ठीक सामने नहीं होना चाहिए.

सही दिशा में लगाएं इलेक्ट्रॉनिक आइटमों

बाथरूम में गीजर और इत्यादि तरह की चीजों को केवल सही दिशा में लगाना चाहिए. आप अपने बाथरूम में गीजर और अन्य इलेक्ट्रॉनिक आइटम को दक्षिण-पूर्व दिशा में ही लगाएं. जबकि साबुन, शेैंपू और नहाने से जुड़ी अन्य चीजें दक्षिण और पश्चिम दिशा में रखना सही होता है.

नलका ना हो लीक

बाथरूम में रखे सभी नलके कभी भी लीक नहीं होने चाहिए. क्योंकि नलके लीक होने का मतलब धन की हानि से जुड़ा हुआ है. इसलिए अगर आपके बाथरूम में कोई नलका लीक होता है उसे सही करवा लें. इसी तरह से बाथरूम में अगर कोई शीश टूटा हुआ है तो उसे तुरंत बाथरूम से हटा दें.

Show More
Back to top button