फिर से लोगों की पहली पसंद बनें मोदी, तीन-चौथाई लोग मोदी को दुबारा देश का पीएम देखना चाहते हैं लोगों को खूब पसंद आया मोदी सरकार का कार्य, अल्पसंख्यक लोग भी हुए मोदी के पक्ष में, बन सकती एक बार फिर से मोदी सरकार

कुछ ही महीनों में लोकसभा चुनाव होने जा रहे हैं और इन चुनावों को लेकर कई सारे मीडिया हाऊस कई तरह के सर्वे करवा रहें हैं. ताकि आम आदमी का मूड़ इस चुनावों में किस पार्टी को जिताने की और है ये पता लग सके. वहीं हाल ही में एक समाचार समूह द्वारा लोकसभा के चुनाव से जुड़ा एक सर्वे करवाया गया है. इस सर्वे में लोगों की पसंद के बारे में जाने की कोशिश की गई है. इस सर्वे में भाग लेने वाले तीन-चौथाई लोगों ने पीएम मोदी को एक बार फिर से प्रधानमंत्री के रुप में देखने की इच्छा जारी की है और इन लोगों का ये भी मानना है कि इस बार फिर से केंद्रीय में एनडीए सरकार ही आने वाली है.

कैसा रहा मोदी का कार्यकाल

मोदी सरकार के पांच साल कैसे रहे और इन्होंने इन पांच सालों में जो कार्य किया वो कितना अच्छा था इसको लेकर भी लोगों से उनकी राय जानी गई. इस सर्वे में भाग लेने वाले 59.51 प्रतिशत लोगों ने कार्यकाल को बहुत अच्छा बताया. वहीं लोगों से जब ये पूछा गया कि क्या राफेल को वो चुनावी मुद्दा मानते हैं तो ज्यादातर लोगों की राय में राफेल चुनाव मुद्दा नहीं है.

नोटबंदी पर क्या है राय

नोटबंदी मोदी सरकार का सबसे बड़ा फैसला रहा है और इस फैसले को लेकर मोदी सरकार के प्रति लोगों की क्या राय है. ये भी लोगों से पता की गई. मोदी के इस फैसले को भी अधिक लोगों ने सही माना है. जबकि 29.09 प्रतिशत लोगों ने जीएसटी के फैसले को भी मोदी की सबसे बड़ी उपलब्धि माना हैं. इसके अलावा मोदी सरकार द्वारा चलाई गई कई सारी योजनाओं को लेकर भी लोगों ने अपनी राय रखी और इस सर्वे में भाग लिए 34.39% लोगों ने माना है कि मोदी सरकार ने गरीब लोगों के लिए काफी अच्छी सरकारी योजनाएं चलाई हैं.

अल्पसंख्यकों के मुद्दे पर भी पूछे सवाल

मोदी सरकार के समय अल्पसंख्यक लोगों ने अपने आपको कितना सुरक्षित महसूस किया. इसको लेकर भी सवाल लोगों से पूछे गए और इस सवाल के जवाब में 65.51 प्रतिशत लोगों ने माना है कि मोदी सरकार के दौरान अल्पसंख्यक लोग सुरक्षित रहें हैं. गौरतलब है कि मोदी सरकार ने अल्पसंख्यकों के लिए खूब कार्य किए हुए है और मोदी सरकार ने  तीन तलाक और हज यात्रा में अधिक सहूलियतें देते हुए अल्पसंख्यकों का दिल जीत लिया है. जिसके चलते अल्पसंख्यक लोगों को भी मोदी सरकार का कार्य खूब पसंद आया है.

राहुल गांधी की लोकप्रियता बढ़ी

इस सर्वे में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी को लेकर भी लोगों से कई सवाल किए गए हैं और लोगों से पूछा गया कि क्या वो राहुल को बतौ्र पीएम के तौर पर देखते हैं. इस सवाल से महज 8.33 प्रतिशत लोग ही सहमत हुए. हालांकि लोगों का ये मानना है कि राहुल गांधी साल 2014 में के मुकाबले अब ज्यादा लोकप्रिय हुए हैं. इस सर्वे के मुताबिक  1.44 प्रतिशत लोग तृणमूल कांग्रेस प्रमुख ममता बनर्जी को पीएम के तौर पर देखना चाहते हैं और 0.43 प्रतिशत लोग बीएसपी सुप्रीमो मायावती को पीएम पद के लिए सही मानते हैं.