बॉलीवुड

12 महिलाओं से थे महेश आंनद के संबंध, अंतिम समय भी नहीं आया इकलौता बेटा, सिर्फ ये रहीं मौजूद

जीना और मरना एक सिक्के के दो पहलू हैं जो हर किसी के जीवन में घटित होना ही है. मगर जब कोई सेलिब्रिटी का निधन होता है तो उसके बारे में हर किसी को पता चल जाता है. पिछले दिनों गुजरे जमाने के पॉपुलर विलेन महेश आनंद का निधन हो गया और शनिवार को उनकी लाश उनके यारी रोड स्थित घर में बरामद हुई. पोस्मार्टम की रिपोर्ट में सामने आया कि उनका निधन नेचुरल तरीके से हुई है. आखिरी समय में उन्होंने ट्रैक सूट पहना था और उनके पास एल्कोहल भी पाई गई लेकिन सबसे दर्दनाक बात ये है कि मरने के बाद भी महेश का संघर्ष खत्म नहीं हुआ. 12 महिलाओं से थे महेश आंनद के संबंध, एक बेटा था लेकिन वो भी अंतिम समय में नहीं हो पाया.

12 महिलाओं से थे महेश आंनद के संबंध

ऐसा बताया जाता है महेश आनंद अपने एकलौते बेटे से मिलने के लिए परेशान रहते थे लेकिन आखिरी समय में उनके मरने के बाद बॉडी पर कोई क्लेम करने नहीं आया. महेश एक लंबे समय से अकेले जीवन जी रहे थे और उनकी फैमिली ने उनके बारे में कोई सुध नहीं ली. महेश आनंद के बेटे का नाम त्रिशूल आनंद है एक्ट्रेस साहिला चड्ढा ने बताया कि यह बहुत निराशाजनक बात है कि पहली बार कोई महेश आनंद की बॉडी को क्लेम करने नही आया. शुक्र है कि उनकी एक बहन ने बॉडी क्लेम की और अंतिम समय में उनके सारे शमसान तक ले गई.” साहिला का कहना है कि महेश बहुत अच्छे इंसान थे, पत्नी के साथ उनके संबंध अच्छे नहीं थे. एक रिपोर्ट के सामने बताया जा रहा है कि महेश ने 5 शादियां की थी लेकिन असल में उनके 12 महिलाओं से संबंध थे. जिनमें से कुछ से उन्होंने शादी की और कुछ महिलाओं से रिलेशनशिप में रहे.

फिल्म प्रोड्यूसर पहलाज निहलानी ने बताया, ”महेश ने मेरे साथ कई फिल्मों में काम किया और पिछले साल उसने मुझे फोन किया था. उसने कहा कि क्या मैं उन्हें किसी फिल्म के लिए साइन कर सकता हूं ? मैंने कहा कि मैं उसके लिए एक कैरेक्टर क्रिएट करूंगा और हमने साथ-साथ 7 दिन की शूटिंग फिल्म रंगीला राजा के लिए की और वह बहुत खुश भी था.” पहलाज ने आगे बताया कि महेश डिप्रेशन में थे और अकेलेपन से लड़ने के लिए वो शराब का सहारा लिया करते थे. महेश आनंद ने कई बार डिप्रेशन के कारण आत्महत्या करने की भी कोशिश की थी.

लगभग 200 फिल्मों में विलेन का किरदार निभाया

13 अगस्त, 1961 को मुंबई में जन्में महेश आनंद ने अपने जीवन में बहुत दर्द झेला है जबकि उनकी जिंदगी में बहुत से लोग आए गए लेकिन आखिरी समय उन्हें अकेलेपन ने मार दिया. महेश ने बॉलीवुड में लगभग 200 फिल्मों में काम किया और सभी में उन्होंने विलेन का किरदार निभाया. उन फिल्मों में कूली नंबर-1, तूफान, विश्वात्मा, स्वर्ग, कुरुक्षेत्र, क्रांतिवीर जैसी कई सुपरहिट फिल्में शामिल हैं. इन्होंने कई फिल्में गोविंदा के साथ की और ज्यादातर फिल्में सुपरहिट रहीं.

Related Articles

Back to top button