अखबार में लिपटी हुई चीजें खाने से होता है नुकसान, जानिये किस तरह बीमारी को कर रहे हैं आमंत्रण

अक्सर आम लोग स्ट्रीट फूड ही खाना पसंद करते हैं और ये स्ट्रीट फूड कितना हाइजेनिक होता है ये बात हर किसी को पता होता है इसलिए समझदार लोग इसे खाने से बचते हैं. मगर वो लोग ये खाना अखबार में लपेटकर दिया जाता है, इसके अलावा आमतौर पर घरों मे भी रोटी या लंच अखबार में लपेटकर दिया जाता है. अगर अखबार में लिपटा खाना तो आज ही छोड़ दें वरना भुगतना पड़ सकता है भारी नुकसान.

अखबार में लिपटा खाना होता है नुकसानदेह

चाय की दुकान पर बिकने वाले गर्मागरम पकौड़े का स्वाद लेने वालों ने शायद ही उसके नीचे रखे अखबार को देखा होगा. मगर इस बात का ध्यान आपको रखना चाहिए कि जो चीज आप अपने पेट को दे रहे हैं क्या वो स्वच्छ है या फिर हेल्दी है ? अखबार में लिपटा खाना अगर कोई खाता है तो उसे कैंसर का खतरा हो सकता है. यही वजह है कि फूड सेफ्टी एंड स्टैंडर्ड अथॉरिटी ऑफ इंडिया यानी FSSAI ने हर किसी को एक सलाह दी है कि अगर वो अखबार या प्लास्टिक में खाना खाते हैं तो रुक जाएं.

फूड अथॉरिटी के मुताबिक, अखबार में लिपटा कोई भी फूड आइटम को खाना कई तरह से जानलेवा हो सकता है क्योंकि अखबार की स्याही में मल्टिपल बोयएक्टिव मटीरियल मौजूद होते हैं जिससे शरीर पर निगेटिव असर पड़ता है. अगर इस स्याही के जरिए शरीर के अंदर पहुंच जाए तो कैंसर सहित कई दूसरी खतरनाक बीमारियां हो सकती है.

ना करें अखबार का इस्तेमाल

FSSAI की बात माने तो भारत के लोग अनजाने में स्लो पॉइज़न का शिकार हो रहे हैं, क्योंकि देश में बड़े पैमाने पर छोटे होटलों से लेकर स्ट्रीट वेंडर्स और यहां तक घरों में भी खाने की चीजों को अखबार में लपेट कर दिया जाता है. लोगों को लगता है कि अखबार तेल को सोख लेता है लेकिन ऐसा नहीं होता है. इसलिए ऐसा करने से आप भी बचें और खाने वाली चीजों को हमेशा सिल्वर कलर के पैक में ही रैप करें ज्यादा अच्छा होगा.

रिसर्च में ये बात साफ हो गई है कि अखबार की स्याही में मौजूद केमिकल शरीर के अंदर अधिक मात्रा में जाने से कैंसर का खतरा बढ़ जाता है. अब ये बात तो हम सभी जानते हैं कि दुनिया में कही भी कैंसर का कोई इलाज नहीं है. रिसर्च के मुताबिक, अखबार या पेपर में लिपटी हुई चीजें खाने से यह जानलेवा बीमारी हो सकती है. इस संबंध में भारत में खाद्य पदार्थों की निगरानी रखने वाली संस्था FSSAI ने भी अखबारों के इस्तेमाल पर दिशा निर्देश जारी किये हैं. इस संस्था ने लोगों से अपील की है कि वो अखबार में लिपटी हुई कोई भी चीज न खाएं और अगर कोई ऐसा करता है तो उसे भी ऐसा करने से रोके.