बिहार में स्थित इस 400 साल पुराने मंदिर की मूर्तियां आपस में करती हैं बात

भगवान पर आस्था रखने वाले लोगों की इस दुनिया में कोई कमी नहीं है और कई लोग भगवान और भगवान की शक्यिों पर काफी विश्वास रखते हैं. भगवान पर विश्वास होने पर ही आज हमारे देश में इतने सारे मंदिर भी हैं जहां पर लाखों की संख्या में लोग आते हैं और भगवान की पूजा करते हैं. हालांकि कई ऐसा लोग भी हैं जिन्हें भगवान पर विश्वास नहीं है और ना ही ये लोग भगवान की शक्तियों को मानते हैं. मगर हमारे देश में ऐसे कई मंदिर हैं जहां पर भगवान के चमत्कार देखने को मिलते हैं और इन चमत्कारों को देखकर कोई भी व्यक्ति इनपर विश्नास करने लग जाएगा. आज हम आपको हमारे देश के एक ऐसे ही मंदिर के बारे में बताने जा रहे हैं जहां पर भगवान की मूर्तियां बात करती हैं और इन मूर्तियों से आवाज भी निकलती है. जो भी लोग बिहार के बक्सर में बने इस मंदिर में आए हैं उन्होंने भगवान और भगवान की शक्तियों पर विश्वास करना शुरू कर दिया है.

इस मंदिर में मूर्तियां करती हैं आपस में बात

बक्सर में बना ये मंदिर माता रानी का मंदिर है और यहां पर मां की शक्तियां लोगों को देखने को मिलती है. इस मंदिर का नाम राज राजेश्वरी त्रिपुर सुंदरी मंदिर जो कि मां त्रिपुर सुंदरी माता को समर्पित है. इस मंदिर में इन माता के अलावा दस महाविद्याओं की मूर्तियां भी हैं जो कि काली, धुमावती, तारा, छिन्न मस्ता, षोडसी, मातंगड़ी, कमला, उग्र तारा और भुवनेश्वरी की हैं. आपको बात दें कि इन महाविद्याओं की पूजा ही गुप्त नवरात्र में की जाती हैं और इन सभी महाविद्याओं की पूजा इस मंदिर में होती है. इतना ही नहीं ये मंदिर तंत्र साधना के लिए भी जाना जाता है. इस मंदिर को प्रसिद्ध तांत्रिक भवानी मिश्र द्वारा बनाया गया था और ये मंदिर 400 वर्ष पुराना  है. इस मंदिर को भवानी मिश्र के परिवार द्वारा ही तभी से संभाला जा रहा है.

सुनाई देती हैं कई आवाजें

इस मंदिर में जो भी आता है उन्हें कुछ ना कुछ सुनाई देते है और ऐसा लगता है की ये मूर्तियां आपस में बात कर रही हैं. वहीं इस मंदिर के पुजारियों का कहना है कि इस मंदिर में तंत्र साधना की मदद से माता के प्राण प्रतिष्ठा किए गए हैं जिसके चलते यहां पर माता की आवाज सुनाई देती है. इस मंदिर में महाविद्याओं के अलावा बंगलामुखी माता, दत्तात्रेय भैरव सहित और भी मूर्तियां स्थापित की गई है.

देर रात तक होती है पूजा

इस मंदिर में साधना कई लोगों द्वारा की जाती है और ये मंदिर रात भर खुला रहता है. यहां पर कई लोग रात के समय में मां की साधान कर अपनी मनोकामना मां से पूरी करवा लेते हैं.

वैज्ञानिकों ने भी मानी आवाज सुनने की बात

वहीं अगर आपको लग रहा हो की इस मंदिर में सुनाई देने वाली आवाजें लोगों का अन्धविश्वास हो सकती हैं तो आप एकदम गलत हैं. क्योंकि इस मंदिर में वैज्ञानिकों की कई टीम आ चुकी हैं. इन वैज्ञानिकों ने इस मंदिर में सुनवाई देने वाली इन आवाजों के बारे में पता लगाने की खूब कोशिशें की है. लेकिन ये सभी वैज्ञानिक नाकाम रहे हैं और ये पता नहीं लगा पाए हैं कि आखिर इस मंदिर में ये आवाज कहां से आती है. यहां पर आसपास रहने वाले लोगों की मनाने तो रात्रि के वक्त इस मंदिर के पास से गुजरते समय उनको कई आवाजें सुनाई देती हैं.