भगवान राम हिंदुओं के साथ साथ मुसलमानों के भी पूर्वज हैं- रामदेव

अयोध्या में राम मंदिर बनाने को लेकर अक्सर कोई ना कोई बयान आता रहता है और इन्हीं बयानों के बीच अब बाबा रामदेव ने भी राम मंदिर के निर्माण को लेकर एक और बयान दिया है. अपने इस बयान में बाबा रामदेव ने भगवान राम जी को मुसलमानों का पूर्वज बताया है. दरअसल राम मंदिर के मुद्दे पर बाबा रामदेव से एक सवाल पूछा गया था और इसी सवाल का जवाब देते हुए इन्होंने कहा है कि भगवान राम हिंदुओं के साथ साथ मुसलमानों के भी पूर्वज हैं.

क्या मक्का-मदीना में बनेगा मंदिर

राम मंदिर को जिस स्थान पर बनाया जाना है उस स्थान को लेकर ही कई सालों से केस चल रहा है. वहीं जब रामदेव से मंदिर को बनाने के स्थान से जुड़ा सवाल किया गया तो उन्होंने कहा कि राम मंदिर अयोध्या में नहीं बनेगा तो क्या मक्का-मदीना में बनेगा. अपने इस बयान में बाबा ने कहा कि मक्का-मदीना और वेटिकन सिटी में तो राम मंदिर बनने वाला नहीं है. राम की जन्मभूमि अयोध्या है और यहीं सच है और राम सिर्फ हिंदू के ही नहीं बल्कि मुसलमानों के भी पूर्वज हैं. ये मुद्दा देश के गौरव से जुड़ा है और राम मंदिर का ये मसला वोट बैंक की राजनीति से जुड़ा हुआ नहीं है.

दरअसल शुक्रवार को  योग गुरु रामदेव ने अहमदाबाद से कुछ किलोमीटर दूर स्थित नडियाद शहर में संतराम मंदिर द्वारा आयोजित एक योग शिविर में हिस्सा लिया था और इसी दौरान उनसे पत्रकारों द्वारा ये सब सवाल किए गए थे और इन सवालों का जवाब देते हुए रामदेव ने ये सब कहा है और राम मंदिर को लेकर अपनी राय रखी है.

विपक्षी दल ने किया रामदेव पर हमला

रामदेव के इस बयान के बाद विपक्षी दल कांग्रेस ने रामदेव पर हमला करते हुआ उन्हें बीजेपी पार्टी से जुड़ा हुआ बताया है. कांग्रेस की और से आए बयान में कहा गया कि उनके जैसे धार्मिक नेता भाजपा के ‘लाभार्थी’ है और ये इस पार्टी को जीताने के लिए इस तरह के बयान देते हैं ताकि उनको वोट मिल सके.

गुजरात कांग्रेस प्रवक्ता मनीष दोषी ने बाबा रामदेव पर ये बयान देते हुआ आगे कहा कि बाबा एक बार फिर से चुनाव से पहले मोदी सरकार की मदद कर रहे हैं ताकि अगले पांच सालों के लिए वो और लाभ उठा सकें.

इससे पहले भी दिए हैं रामदेव ने इस तरह के बयान

ये पहली बार नहीं है जब बाबा रामदेव की और से राम मंदिर से जुड़ा कोई बयान आया हो इससे पहले भी रामदेव ने राम मंदिर को बनाने को लेकर कई तरह के बयान दिए हैं. साल 2018 में अयोध्या में राम मंदिर बनाने से ही जुड़ा एक बयान देते हुए रामदेव ने कहा था कि अगर राम मंदिर नहीं बनता है तो जनता का भरोसा भारतीय जनता पार्टी से उठ जाएगा.

गौरतलब है कि बीजेपी पार्टी ने साल 2014 के लोकसभा चुनाव में लोगों से वोट मांगते समय राम मंदिर के निर्माण करवाने की बात भी कही थी और सत्ता में आने के बाद बीजेपी इस मंदिर को बनाने की कोशिशों में लगी हुई है. लेकिन अभी मंदिर से जुड़ा ये मसला कोर्ट में ही चल रहा है और ऐसे में बीजेपी पार्टी राम मंदिर का निर्माण विवादित स्थल पर नहीं करवा सकती है.