बिहार के इस रिक्शा चालक को 5 बार पत्र लिख चुके हैं पीएम मोदी, जानिए क्या है मामला?

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मिलने की चाह हर आम व्यक्ति को होती है। हर कोई चाहता है कि उसकी मुलाकात पीएम मोदी से हो जाए और यही वजह है कि पीएम मोदी जहां जाते हैं, वहां भीड़ उमड़ जाती है, लेकिन अगर हम कहें कि पीएम मोदी ने एक रिक्शा चालक को हैप्पी न्यू ईयर विश किया है तो शायद आपको यकीन न हो। जी हां, पीएम मोदी ने एक रिक्शा चालक को नये साल की शुभकामनाएं दी है, जिसकी वजह से वह रिक्शा चालक पिछले कई दिनों से सुर्खियों में है। तो चलिए जानते हैं कि हमारे इस लेख में आपके लिए क्या खास है?

मामला बिहार के खगाड़िया जिले का है। यहां के एक रिक्शा चालक को पीएम मोदी ने पत्र लिखकर नये साल की बधाई दी है। हालांकि, नया साल बीते हुए एक महीना हो गया, लेकिन रिक्शा चालक के लिए नया साल अब आया है। इतना ही नहीं, पीएम मोदी का पत्र मिलते ही रिक्शा चालक की ज़िंदगी बदल गई और पूरे गांव भर में उसकी खूब पूछ हो रही है। हर कोई उससे मिलना चाहता है। पीएम मोदी के पत्र से न सिर्फ उसकी बल्कि उस इलाके की तस्वीर भी बदल गई है।

कौन है ये रिक्शा चालक?

बिहार के खगड़िया जिले के गोगरी जमालपुर में रहने वाले शंभू पासवान जोकि पेश से रिक्शा चालक हैं। शंभू पासवान को पीएम मोदी की तरफ से पत्र मिला है। शंभू पासवान एक गरीब इंसान है, जोकि रिक्शा चलाकर अपने परिवार का पेट पालते हैं, लेकिन शंभू पासवान एक ज़िम्मेदार नागरिक हैं और वे अपने इलाके का भरपूर ध्यान रखते हैं। शंभू पासवान अपने इलाके में होने वाली सभी घटनाओं का ध्यान रखते हैं और जहां भी कुछ गलत होता है, उसके बारे में बोलते हैं। ऐसे में अब जब उन्हें पीएम मोदी का खत मिला है, तो उन्होंने इस खत को मीडिया को भी दिखाया है।

क्यों मिला है रिक्शा चालक को पीएम मोदी का पत्र?

रिक्शा चालक शंभू पासवान ने पीएम मोदी को जनवरी में नये वर्ष की शुभकामनाओं के साथ एक पत्र लिखा था, जिसका जवाब अब जाकर पीएम मोदी की तरफ से आया है। जी हां, पीएम मोदी ने अब शंभू पासवान को नये साल की शुभकामनाओं के साथ पत्र भेजा है, जिसे पाकर वह काफी उत्साहित है और गांव भर के लोग उस पर गर्व कर रहे हैं। बता दें कि शंभू पासवान ने पीएम मोदी को धन्यवाद कहा, क्योंकि पीएम मोदी ने उनके पत्र का जवाब दिया।

पहले भी लिख चुके हैं शंभू पासवान पीएम मोदी को पत्र

मीडिया रिपोर्ट्स की माने तो शंभू पासवान पहले भी पीएम मोदी को पत्र लिख चुके हैं। एक बार शंभू पासवान की पत्नी बीमार हो गई थी और उन्हें अस्पताल द्वारा लिखी गई दवाई उन्हें नहीं मिल रही थी, इसलिए उन्होंने पीएम मोदी को पत्र लिखा और पीएम मोदी ने मामले में संज्ञान लेते हुए उनकी पत्नी का इलाज कराया और अस्पताल में कई तरह की दवाईयां उपलब्ध करवाई। ऐसे कई बार शंभू पासवान पीएम मोदी को तरह तरह की समस्याओं पर पत्र लिखते रहते हैं।