बार्डर पर चुन-चुन कर करती है दुश्मनों का सफाया, ससुराल में निभाती हैं मां-बहू-पत्नी का फर्ज

भारत देश दो बातों के लिए जाना जाता है ‘जवान’ और ‘किसान’. जहां एक ओर किसान पसीना बहाकर देश को अनाज देता है तो वहीं जवान बॉर्डर पर खून बहाकर दुश्मनों से देश की रक्षा करते हैं. अक्सर लोग कहते हैं कि वीर जवान लड़के ही होते हैं जो देश की रक्षा करते हैं लेकिन आज हम आपको ऐसी महिला के बारे में बताएंगे जो आर्मी की ये मेजर बॉर्डर पर करती हैं दुश्मनों का सफाया, लेकिन घर में एक आदर्श बहू बनकर रहती हैं.

आर्मी की ये मेजर बॉर्डर पर करती हैं दुश्मनों का सफाया

आज के समय में महिला और पुरुष कदम से कदम मिलाकर हर क्षेत्र में आगे बढ़ रहे हैं. इसी में हम एक ऐसी महिला का नाम बताने जा रहे हैं जो भारतीय आर्मी की मेजर हैं और वो अपनी पर्सनल लाइफ के साथ प्रोफेशनल लाइफ को अलग-अलग रखती हैं. उस आर्मी का नाम मेजर प्रेरणा सिंह जो राजस्थान की रहने वाली हैं. प्रेरणा अपने गांव की पहली ऐसी महिला हैं जिन्होंने इंडियन आर्मी ज्वाइन की और अब एक मेजर के पद पर कार्यरत हैं. प्रेरणा ने साल 2011 में इंडियन आर्मी को ज्वाइन किया और 6 सालों तक खूब मेहनत की और ये पोस्ट हासिल की.

आपको बता दें कि प्रेरणा सिंह का जन्म राजस्थान के जोधपुर में हुआ और इनकी शादी को 4 साल हो गए हैं. उनके पति का नाम मंधाता सिंह है जो एक वकील हैं. इन्हें 3 साल की बेटी भी है. प्रेरणा अपने पूरे परिवार के साथ जयपुर में रहती है कि लेकिन मेरठ और जयपुर में पोस्टिंग के बात इस समय प्रेरणा पुणे में इस पद पर कार्य कर रही हैं जो इंजीनियरिंग कोर में हैं.

खुश हैं प्रेरणा के ससुराल वाले

प्रेरणा के इस काम में उनके पति पूरी तरह से उनका साथ देते हैं और प्रेरणा के ससुराल वाले भी उनके काम से खुश हैं खासकर प्रेरणा के ससुर को अपनी बहू पर गर्व होता है. प्रेरणा सच में एक देशभक्त हैं और उनके ऊपर हर किसी को नाज है. जहां घर में वो एकआदर्श बहू, मां और पत्नी हैं तो वहीं देश के प्रति भी वो बॉर्डर पर कई दुश्मनों के छक्के छुड़ाकर देश की सेवा की है.