इस डॉक्टर ने पार की दरिंदगी की सारीं हदें, अपने मरीज के साथ किया ऐसा जानकर दंग रह जाएंगे आप

न्यूज़ट्रेंड वेब डेस्क: कहते हैं डॉक्टर भगवान का दूसरा रूप होते हैं जो इस दुनिया में आकर लोगों को सेवा करते हैं और जो जान उनको भगवान ने बख्शी होती है उसकी हिफाजत करते हैं। लेकिन अगर यही डॉक्टर आपकी जान का दुश्मन बन जाए तो ये बात सभी को हैरानी में डाल देगी। हम जिस डॉक्टर की बात कर रहे हैं उसने अपने एक मरीज के साथ ऐसी हरकत की जिसे जानकर आपकी रूह कांप जाएगी। आप भी उसकी हरकत को जानकर कहेंगे की ये इंसान नहीं बल्कि उसके भेष में दरिंदा है।

सुनील मंत्री

ये पूरा मामला है मध्य प्रदेश के होशंगाबाद का,जहां पर एक ऐसी घटना हुई जिसको जानकर सब दंग रह गए। बात है 5 फरवरी की जब आनंद नगर के एक डॉक्टर के घर से कुछ अजीब सी महक आ रही थी, उस महक के बढ़ने पर पड़ोसियों ने पुलिस को इस बात की सूचना दी। धीरे-धीरे वो अजीब से महक पूरे मुहल्ले में फैल रही थी। सूचना मिलते ही पुलिस डॉक्टर के घर पहुंच गई और उसके बाद उन्होंने जो अंदर देखा वो देखकर उनके भी होश उड़ गए।

वीरू पचोरी

पुलिस वालों ने देखा कि डॉक्टर एक आरी से एक लाश के टुकड़े कर रहा था वहीं उसके पास में एक ड्रम रखा था, जिसमें एसिड था और उसमें उसी लाश के टुकड़े गल रहे थे। बता दें कि ये डॉक्टर जिसने इतनी भयानक घटना को अंजाम दिया उसका नाम है सुनील मंत्री। और जिस शख्स की लाश के वो टुकड़े कर रहा था उसका नाम था वीरू पचोरी।

क्यों की हत्या

बता दें कि वीरू पचोरी की वाइफ, मंत्री की वाइफ के बुटीक में काम करती थी, लेकिन मंत्री की बीबी के निधन के बाद वो ही पूरा बुटीक संभालने लगी। जिस वजह से वो ज्यादातर वक्त वहीं रहती थी। बता दें कि वीरू को शक हुआ की उसकी पत्नी और मंत्री का चक्कर चल रहा है और उसका यही शक उसकी हत्या की वजह बना।

बता दें कि वीरू को उसकी पत्नी के मंत्री से अवैध संबंध का शक काफी समय से था और इस बात को लेकर के वो कई बार मंत्री को धमका भी चुका था। जिसके चलते 4 फरवरी को दोनों की बहस हुई जिसके बाद मंत्री ने वीरू को अपना ड्राइवर बनने की बात कही, जिससे वो हर समय उसके साथ रहेगा और उसका शक भी दूर हो जाएगा।

वीरू ने अगले ही दिन से डॉक्टर की कार चलानी शुरू कर दी। डॉक्टर को लेकर वो इटारसी सरकारी अस्पताल गया, जहां वीरू ने मंत्री को बताया की उसके दांत में दर्द है। मंत्री ने उसे अस्पताल से दवाएं दिलाईं और शाम को दोनों घर वापस आ गए। जिसके बाद वीरू को फिर से दांत में दर्द हुई तो उसने मंत्री से बोला। तब मंत्री ने वीरू को एक इंजेक्शन लगा दिया। लेकिन ये एक धोखा था जो वीरू के साथ हुआ था वो इंजेक्शन दर्द का नहीं बल्कि बेहोशी का था। इसके बाद मंत्री ने सर्जिकल नाइफ से वीरू का गला काट दिया।

एक महक, जिसने पूरी मोहल्ले को सहमा दिया

हत्या के बाद अब बारी की उसकी लाश को ठिकाने लगाने की। मंत्री ने होशंगाबाद के बाज़ारों में घूम-घूमकर एसिड और टॉयलेट क्लीनर खरीदा। और फिर घर में आकर उसने इनसभी को एक ड्रम में डाला और फिर कुल्हाड़ी से वीरू की लाश के टुकड़े करने शुरू कर दिए। और उन टुकड़ों को केमिकल में गलने के लिए डालता गया। 4 फरवरी की शाम से 5 फरवरी की दोपहर तक मंत्री लाश को काटता रहा। धीरे-धीरे एसिड में गल रही लाश की महक मुहल्ले में गई जिसके बाद किसी ने पुलिस को सूचना दी।

फिलहाल डॉक्टर पुलिस हिरासत में हैं औऱ पुलिस वीरू की वाइफ से पूछताछ कर रही है कि कहीं वो भी इस हत्या में मिली हुई तो नहीं है।