खड़े होकर पानी पीने वाले हो जाएं सावधान, खड़े होकर पानी पीने से होते हैं ये सारे नुकसान

कहते हैं कि व्यक्ति को रोजाना 8 से 10 गिलास पानी पीना चाहिए. पानी पीना सेहत के लिए बहुत फायदेमंद होता है. पर्याप्त मात्रा में पानी पीने से आधे रोग तो यूं ही छू मंतर हो जाते हैं. पानी पीने से त्वचा दमकती रहती है और चेहरे पर दाग-धब्बे और मुंहासे भी नहीं होते. सुबह उठने के बाद एक गिलास गर्म पानी तो जरूर पीना चाहिए. बहुत सारे लोगों को पता नहीं होगा कि सुबह उठकर खाली पेट गर्म पानी पीने के क्या-क्या फायदे होते हैं. आयुर्वेदिक एक्सपर्ट डॉक्टर अबरार मुलतानी की मानें तो व्यक्ति को रोजाना उठने के बाद 1 गिलास गर्म पानी पीना चाहिए. ऐसा करने से बॉडी पर इसके कई सारे फायदे होने लगते हैं. सुबह उठकर एक गिलास गर्म पानी पीने से वजन कम होता है, कब्ज दूर होता है, बॉडी पेन दूर होता है, त्वचा चमकदार बनती है और रक्त प्रवाह सुधरता है. लेकिन क्या आप जानते हैं व्यक्ति को कभी भी खड़े होकर पानी नहीं पीना चाहिए. दरअसल, खड़े होकर पानी पीने से हमारे शरीर को कई सारे नुक्सान पहुंचते हैं. आखिर क्यों खड़े होकर पानी नहीं पीना चाहिए चलिए इसका कारण हम आपको बताते हैं.

क्यों खड़े होकर नहीं पीना चाहिए पानी

कहते हैं कि खड़े होकर पानी पीना हमारे दिल के लिए खतरनाक होता है. खड़े होकर पानी पीने से खाना पचने में मदद नहीं मिलती जिस वजह से शरीर में कॉलेस्ट्रोल की मात्रा बढ़ने लगती है. कॉलेस्ट्रोल की मात्रा बढ़ने पर हार्ट अटैक की संभावना बढ़ जाती है.

क्या कहता है आयुर्वेद

आयुर्वेद की मानें तो खड़े होकर पानी पीने से व्यक्ति के पेट पर अधिक बल पड़ता है. खड़े होकर पानी पीने से पानी सीधा इसोफेगस के जरिये प्रेशर के साथ पेट में तेजी से चला जाता है. इससे पेट के आसपास के हिस्से और डाइजेस्टिव सिस्टम को नुकसान पहुंच सकता है.

पानी पीने का सही तरीका

कोशिश करें कि जब भी पानी पिएं बैठ कर ही पिएं. बैठकर पानी पीते समय पानी का फ्लो बहुत धीरे होता है जिससे पानी को डाइजेस्ट करने में मदद मिलती है. इससे शरीर की तंत्रिकाएं रिलैक्स्ड रहती हैं. पानी का प्रेशर तेज होने से तंत्रिकाओं में भी प्रेशर बढ़ जाता है. इतना ही नहीं, बैठकर आराम से पानी पीने से हमारी मांसपेशियां और नर्वस सिस्टम बहुत रिलैक्स रहते हैं. ये खाने को भी आराम से डाइजेस्ट कर देता है. इसलिए संभव हो तो हमेशा बैठकर पानी पिएं. इससे शरीर को जरूरी न्यूट्रिएंट्स भी मिलते हैं.

बीमारी होने का खतरा

खड़े होकर पानी पीने से फेफड़ों के साथ-साथ दिल संबंधी बीमारी होने का भी खतरा ज्यादा रहता है. खड़े होकर पानी पीने से व्यक्ति के फूड पाइप और विंड पाइप में ऑक्सीजन की सप्लाई लगभग रुक जाती है. जो लोग लगातार खड़े होकर पानी पीते हैं उनको फेफड़े और दिल की बीमारी होने की संभावना बढ़ जाती है.

नहीं बुझती है प्यास

इतना ही नहीं, खड़े होकर पानी पीने से व्यक्ति की प्यास भी नहीं बुझती है. पानी पीने के कुछ देर बाद ही उसे दोबारा प्यास लग जाती है. इसलिए हो सके तो बैठकर पानी पिएं.

पढ़ें इस जगह पर उल्टा बहता है पानी और उल्टी चलती हैं गाड़ियां, वैज्ञानिक भी नहीं लगा पाए इसकी असल वजह

दोस्तों, उम्मीद करते हैं कि आपको हमारा ये आर्टिकल पसंद आया होगा. पसंद आने पर लाइक और शेयर करना न भूलें.