गरुड़ पुराण के अनुसार इन 4 लोगों के घर कभी न करें भोजन, वरना जिंदगी में आ सकते है दुःख व संकट

हिंदू धर्म में गरुड़ पुराण का विशेष महत्व है. इस महान ग्रंथ की रचना वेद व्यास जी ने की थी. पूरे ग्रंथ में कुल 279 अध्याय है जबकि इन अध्यायों में कुल 18 हज़ार श्लोकों का वर्णन किया गया है. यह सभी श्लोक लोगों का मर्ग दर्शन करते हैं. इसमें ऐसी कईं बातें लिखी गई है जिनका ध्यान रखने से हम हर प्रकार की खुशियाँ हासिल कर सकते हैं. इसी पुराण में यह भी बताया गया है कि 4 लोगों के घर भोजन ग्रहण करने से हमारे जीवन में कईं दुषपरिणाम देखने को मिल सकते हैं. इस लेख में हम आपको इन लोगो के बारे में बताने जा रहे हैं, जिनके घर आपको भूल से भी खाना नही खाना चाहिए वरना आपके दिल और दिमाग पर नाकारात्मक प्रभाव पड़ सकता है.

हालाँकि हम भारतीय मिल बाँट कर खाना पसंद करते हैं ऐसे में यदि कोई रिश्तेदार घर आ जाता है तो विशेष तरह के पकवान पकाए जाते हैं. लेकिन गरुड़ पुराण के अनुसार दुनिया में ऐसे भी व्यक्ति हैं जिनके घर खाना खाने से हमे जीवन में हार का सामना करना पड़ सकता है. तो चलिए जानते हैं आखिर इस श्रेणी में कौन कौन से लोग आते हैं जिनके घर भोजन खाना पाप के समान है.

अपराधी या चोर के घर ना खाएं खाना

गरुड पुराण में लिखे अनुसार किसी भी व्यक्ति को अपराधी के घर का खाना नहीं खाना चाहिए. क्यूंकि अगर कोई व्यक्ति किसी चोर या अपराधी के घर खाना खाता है तो वह एक तरह से उसकी पाप की कमाई को खाने का भागीदार बन जाता है. गरुड पुराण के अनुसार ऐसे अपराधी कभी भी घर में मेहनत का धन नही लाते हमेशा गलत काम से ही घर परिवार का पेट पालते हैं जो अनजाने में अपराधी के पाप के भी भागिदार्बन जाते हैं.

चरित्रहीन स्त्री के घर भोजन ग्रहण करना है पाप

गरुड पुराण में लिखित अनुसार जो महिला सीधे साधे लोगों को धोखा दे कर अपना आचरण मैला करती है, ऐसी महिला के घर में खाना खाना पाप के समान है. यदि आप भूल से भी उस महिला के साथ बैठ कर खाना खाते हैं तो अनजाने में आप उसके धोखे और मैले आंचल का हिस्सा बन सकते हैं जिसका आपको आगे चल कर भारी दंड झेलना पड़ सकता है.

उधार देने वालों के घर खाना है पाप

उधार देने वाला सूदखोर कहलाता है. हालाँकि वह लोगों को उनकी जरूरत के समय में उधार दे कर उनकी मदद करता है लेकिन उनसे दुगुना सूद कमा कर अपनी मनमानी करता है. इसलिए ऐसे व्यक्ति के घर खाना खाने से आप भी उसके लालची इरादों का शिकार हो सकते हैं और आगे जा कर उसकी मीठी बातों में फंस कर जीवन बर्बाद कर सकते हैं.

क्रोधित व्यक्ति के घर भोजन करना

क्रोधित व्यक्ति का भाव ऐसे व्यक्ति से है जोकि सबसे अधिक गुस्सा करता हो. ऐसे व्यक्तियों का खुद पर कोई किआबू नहीं रहता इसलिए वह आपकी किसी भी बात से क्रोधित हो कर आपको नुकसान पहुंचा सकते हैं. इसलिए ऐसे लोगों के घर खाना खाने से आपको बचना चाहिए.