मोदी सरकार की नई स्कीम ₹55 के बदले मिलेंगे 36 हजार, तरीका जानकर खुशी का नहीं रहेगा ठिकाना

जैसा कि आप सभी लोग जानते हैं कि अंतरिम बजट की घोषणा हो चुकी है बजट 2019 में अंतरिम वित्त मंत्री पीयूष गोयल ने एक ऐसी योजना की घोषणा की है जिसके बारे में जानकर आप खुशी से झूम उठेंगे इस योजना को सरकार ने “प्रधानमंत्री श्रम योगी मानधन” नाम रखा है जिसके अंतर्गत मजदूर वर्ग के लोगों को हर महीने ₹3000 रुपये पेंशन के रूप में दिए जाने का प्रावधान है इस स्कीम का लाभ उन लोगों को मिलेगा जिनकी कमाई ₹15000 रुपये प्रति महीने है अगर देखा जाए तो केंद्र सरकार की इस योजना का लाभ लगभग 42 करोड लोगों को मिलने वाला है पीयूष गोयल ने कहा कि भारत की कुल जीडीपी का लगभग आधा हिस्सा 42 करोड़ मजदूरों की मेहनत से आता है इसके अंदर रेहड़ी वालों से लेकर रिक्शा चालक और कंस्ट्रक्शन वर्कर शामिल है ऐसी स्थिति में हमारा यह फर्ज बनता है कि उनको सामाजिक और आर्थिक सुरक्षा दी जाए इन्हीं सब बातों को ध्यान में रखते हुए हमने इस योजना का लाभ देने का निर्णय किया है।

₹55 रुपये के बदले मिलेंगे ₹36000 रुपये सालाना

जिन मजदूरों की मासिक आय ₹15000 रुपये तक है उनको ही सरकार इस योजना का लाभ देने वाली है इस योजना के अंतर्गत मजदूरों को सालाना ₹36000 रुपये दिए जाएंगे यह रकम पेंशन के रूप में 60 साल की उम्र के बाद मिलेगा इससे पहले आपको कुछ रकम जमा करनी होगी इस योजना के अंतर्गत आपको 29 वर्ष की आयु से हर महीने ₹100 रुपये 60 वर्ष की आयु तक जमा करना पड़ेगा यदि आपकी आयु 18 वर्ष की है तो आपको हर महीने ₹55 रुपये जमा करने होंगे तभी आप इस योजना का लाभ उठा पाएंगे।

कितने लोगों को मिलेगा इसका लाभ

इस योजना के तहत सरकार ने इस बात का दावा किया है कि 5 सालों में असंगठित क्षेत्र के 10 करोड़ कर्मचारियों को इसका फायदा प्राप्त होने वाला है यह योजना आने वाले 5 साल में असंगठित क्षेत्र के लिए दुनिया की सबसे बड़ी पेंशन योजना साबित हो सकती है प्रधानमंत्री श्रम योगी मानधन योजना के लिए पीयूष गोयल ने कहा है कि सरकार हर मजदूर के लिए एक समान पैसे ही जमा करेगी वित्त मंत्री पीयूष गोयल ने अपने भाषण में कहा कि इसके लिए सरकार 500 करोड़ रुपए मुहैया कराएगी भविष्य की जरूरतों के अनुसार इससे भी अधिक राशि उपलब्ध कराई जा सकती है।