भगवान की ऐसी मूर्तियों को घर में रखना नहीं होता है शुभ, जानिये इन मूर्तियों के बारे में

भगवान की पूजा हर कोई करता है और हर किसी के घर में भगवान की मूर्ति जरूर होती है. इन मूर्तियों के रोज दर्शन भी किए जाते हैं और इनकी पूजा करना काफी लाभदायक होता है. लेकिन कई लोगों के घर में भगवान की ऐसी मूर्तियां भी होती हैं जो कि शुभ नहीं होती है और ऐसी स्थिति में इन मूर्तियों के दर्शन करने से कोई भी लाभ नहीं मिलता है और जीवन में कष्ट बढ़ जाते हैं. इसलिए ये जरूरी होता है कि आप सोच समझकर ही भगवान की मूर्तियां खरीदें और केवल उन्हीं मूर्तियों के रोज दर्शन करें जो कि वास्तु शास्त्र के हिसाब से सही मानी जाती हैं. वहीं किस प्रकार की भगवान की मूर्तियों के दर्शन नहीं करने चाहिए ये आपको नीचे बताया गया है.

वास्तु शास्त्र के हिसाब से घर में ना रखें ऐसी मूर्तियां

महाभारत युद्ध से जुड़ी तस्वीर

अगर आपने अपने मंदिर या फिर घर पर महाभारत के युद्ध से जुड़ी कोई तस्वीर लगा रखी है. तो उसे तुंरत हटा दें क्योंकि इस तस्वीर को देखने से जीवन में कभी भी शांति नहीं मिलती है और घर में नकारात्मक ऊर्जा बढ़ने लगती है. इसी तरह अगर किसी भी प्रकार की मूर्ति में भगवान गुस्से में हैं या युद्ध कर रहें हैं तो उस मूर्ति को भी घर में ना रखें.

खंडित तस्वीर

अक्सर कई लोगों के घर में भगवान की खंडित तस्वीर या मूर्ति भी होती है जिनकी पूजा रोज की जाती है. मगर वास्तु शास्त्र में खंडित मूर्ति का पूजन करना ठीक नहीं माना गया है. और इसके अनुसार इन खंडित मूर्तियों को घर में नहीं रखना चाहिए और ना ही इनके दर्शन करने चाहिए.

 

खड़ी मूर्ति ना खरीदे

अगर आप भगवान की कोई मूर्ति खरीद रहे हैं तो केवल ऐसी ही मूर्ति लें जिसमें भगवान बैठे हों. क्योंकि वास्तु शास्त्र में भगवान की खड़ी हुई मूर्ति को मंदिर में रखना सही नहीं माना गया है. साथ में ही अगर आपके घर में कोई ऐसी मूर्ति है तो उसे हटा दें.

ना दिखे पीछे का भाग

अपने घर के मंदिर या किसी भी स्थान पर भगवान की मूर्ति को इस तरह से रखना चाहिए कि आपको उस मूर्ति का केवल आगे का ही हिस्सा दिखे. क्योंकि भगवान की मूर्ति की पीठ दिखना सही नहीं होता है. इसलिए इस मूर्ति की स्थापना मंदिर में इस प्रकार से करनी चाहिए की हर जगह से केवल भगवान के आगे के हिस्से के ही दर्शन हों.

एक ही भगवान की दो मूर्ति ना रखें

पूजा घर में हमेशा ही एक भगवान से जुड़ी हुई केवल एक ही मूर्ति होनी चाहिए और कभी भी दो मूर्तियों को एक दूसरे के सामने भी नहीं रखना चाहिए. ऐसा कहा जाता है कि इस तरह से मूर्ति रखने से घर में लड़ाई रहती है और शांति नहीं आती है. इसलिए ये जरूरी होता है कि मंदिर घर में रखी सभी मूर्तियां सही तरह से और सही स्थान पर रखी हों.

ना रखें इस भगवान की मूर्ति

घर के मंदिर में कभी भी भैरव भगवान, नटराज और शनि देव भगवान की मूर्ति भी नहीं रखनी चाहिए और इन भगवानों के दर्शन केवल मंदिर में ही किए जाने चाहिए.