शुक्रवार को भूल से भी ना करें ये 4 काम, वरना आपकी किस्मत आपसे मुंह मोड़ लेगी

इंसान और बाकी जीव जंतुओ को भले ही भगवान ने धरती पर पैदा किया है लेकिन मनुष्य ने अपनी सोच और समझ से दुनिया को एक नई सोच और परिभाषा दे दी है. विज्ञान ने आज के समय में इतनी उन्नति कर ली है कि अब लोग एक जगह से दूसरी जगह प्लेन की मदद से उड़ कर जा सकते हैं. इतना ही नहीं हम मनुष्यों ने ही धरती पर दिनों और महीनों का नामकरण भी किया है. हफ्ते में 7 दिन होते हैं और हर दिन अपने आप में बेहद ख़ास होता है. लेकिन ज्योतिष शास्त्र के अनुसार हर दिन का हमारे भाग्य और दुर्भाग्य से भी ख़ास नाता जुड़ा होता है. ऐसे में यदि हम किसी न्निच्षित दिन पर गलत काम करते हैं, तो उसका परिणाम तमाम जीवन हमे भुगतना पड़ता है. आज के इस ख़ास लेख में हम आपको ऐसे 4 कामों के बारे में बताने जा रहे हैं, जिन्हें शुक्रवार के दिन से दुर्भाग्य का साथ मिलता है.

ऐसे में यदि आप भूल से भी इन कामों को शुक्रवार के दिन करते आ रहे हैं तो आज से ही त्याग दें वरना माँ लक्ष्मी आपसे नराज हो सकती है और आपका अच्चा समय आपका साथ छोड़ सकता है. तो चलिए जानते हैं वह कौन से काम है जो हमे हमेशा नाकारात्मकता प्रदान करते हैं-

संध्या के समय  में सोना

संध्या यानि सूर्यास्त के समय में सोना हिंदू धर्म के शास्त्रों में पाप के समान माना गया है. ऐसे में यदि कोई व्यक्ति शुक्रवार की शाम को सो जाता है तो माँ लक्ष्मी उससे नराज हो जाती है और उसके घर से हमेशा के लिए चली जाती है. जिसके कारण व्यक्ति के जीवन में धन की हानि और दुखों का पहाड़ टूट सकता है. इन सब की इलावा शाम के समय में घर में नाकारात्मक शक्तियों का प्रवाह होता है. इसलिए यदि आप भी शाम को सोने के आदी हैं तो आज से ही अपनी इस आदत को त्याग दें.

ना फैलाएं गंदगी

जैसा कि हम सभी जानते ही हैं कि लक्ष्मी माँ को सफाई पसंद है. ऐसे में कभी भी घर में गंदगी नहीं फैलानी चाहिए. ख़ास तौर पर शुक्रवार के दिन घर गंदा रखने से माँ लक्ष्मी नराज हो कर लौट जाती है और भक्तों के लाख मनाने पर भी नहीं मानती. इसलिए कोशिश करें कि शुक्रवार के दिन आपका घर साफ़ हो औरइस दिन  लक्ष्मी पूजन आपके घर के मंदिर में ही किया जाए.

भूल से भी ना करें अनादर

हर घर का बेटा और बहु लक्ष्मी माँ के प्रतीक होते हाँ. ऐसे में कोशिश करें कि शुक्रवार के दिन आपकी बहु का आप अनादर ना करें. इतना ही नहीं बल्कि शुक्रवार के दिन बहु के साथ लड़ाई झगडा करने से ना केवल घर का सुखद माहोल बिगड़ता है बल्कि लक्ष्मी माँ भी नाराज हो कर चली जाती है और दोबारा मुड कर कभी उस घर में पाँव नहीं रखती.

जानवर को ना पहुंचाएं हानि

हम इंसानों की तरह जानवर भी साँस लेते हैं और जीते हैं. हालाँकि बहुत से लोग मंगलवार, ब्रहस्पतिवार और शनिवार के दिन जानवर का मांस खाने से परहेज़ रखते हैं लेकिन शुक्रवार के दिन वह नॉन वेज बिना सोचे समझे खा लेते हैं. लेकिन बता दें कि शुक्रवार के दिन नॉन वेज खाने से या किसी पशु पक्षी को नुकसान पहुँचाने से ईश्वर हमसे नाराज हो जाते हैं और घर में दुखों और संकटों का माहोल बना रहता है.