जयमाला होने से पहले स्टेज पर दुल्हन ने लिया बड़ा फैसला और फिर धीरे से पुलिस को लगा दिया कॉल

भागलपुर: आज के समय में लड़कियां लड़कों से किसी मामले में पीछे नहीं है. ख़ास कर बात जब गलत की हो तो आज की मॉडर्न लड़की चुप नहीं रहती और अपनी सूझ बूझ से गलत को सही करके मानती है. कुछ ऐसा ही मामला हाल ही में देखने को मिला. जहाँ एक लड़की ने शराब कोलेकर नई मिसाल पेश की है. लड़की की शादी में कुछ ही समय बाकी था और जयमाला के लिए लड़के वाले स्टेज पर आ चुके थे लेकिन शराब पीकर आए बारातियों के साथ दुल्हे को देख कार लड़की ने शादी करने से साफ़ मना कर दिया. खबरों की माने तो यह मामला गुरुवार का है जब सिपाही उदय सिंह की बरात सुलानगंज के अकबरपुर में आई थी. बारातियों और दुल्हे को शराब में तल्ली देख कर दुल्हन ने पुलिस को सूचित किया जिसके बाद दोनों बाप बेटों को पोलिफे ने गिराफ्तार कर लिया. बता दें दूल्हा खुद पुलिस का एक जवान है.

दुल्हन ने पुलिस को दिए बयान में बताया कि दूल्हा उदय राजक और उसके कुछ दोस्त शराब के नशे में चूर थे. ऐसे में जब बारात उनके घर के दरवाजे पर पहुंची तो वह डीजे की धुन पर नाचने लगे और बिना सोचे समझे घरातियों के साथ मारपीट करने लगे. इस मारपीट के चलते लड़के के मामा, नाना और पिता राजकिशोर बुरी तरह से घायल हो गए जबकि लड़की पक्ष वालों को भी काफी चोटे आई. जैसे तैसे मामला शांत हुआ तो दुल्हे पक्ष के लोग स्टेज पर जयमाला के लिए इक्कठे को गए. इस दौरान दुल्हे की मुंह से शराब की बदबू आ रही थी जबकि उसके दोस्त भी इधर-उधर गिर रहे थे.

दुल्हन के अनुसार वह वहां खड़ी काफी समय तक लड़के पक्ष की मनमानिया देखती रही और आखिरकार उसने पुलिस को छिप कर फोन कर दिया और पूरी घटना की जानकारी दे दी. जिसके बाद नधे में धुत बाराती वहां से फरार हो गए जबकि दुल्हे के पिता और दुल्हे को पुलिस ने मौके पर गिरफ्तार कर लिया. दुल्हन अनुषा के अनुसार लड़का नशे ख़ास कर शराब पीने का आदी था ऐसे में वह कभी भी किसी के साथ मारपीट कर सकता था. तो यदि वह उससे शादी करती तो उसका भविष्य सुधरने की जगह उल्टा और खतरे में पड़ सकता था.

शादी के दिन ही अपने होने वाले दुल्हे को नशे में गिरते संभलते देख कर दुल्हन अनुषा का दिल भर गया और उसने इस शादी को तोडना ही सही समझा. अनुषा के अनुसार एक शराबी के साथ पूरी जिंदगी बर्बाद करने से अच्छा था कि वह शादी तोड़ कर कुंवारी जीए. इस्ल्ये उसने मौके पर शादी से मना कर दिया और पुलिस को घटना के बारे में सूचित कर दिया. अनुषा के अनुसार जब कोई पुलिसवाला ही नशे का आदी है तो वह देश की जनता का जिम्मा भला कैसे उठा सकता था. वहीँ दूसरी और रात भर जेल की हवा खाने के बाद दुल्हे उदय और पिता राजकिशोर को अपनी गलती का एहसास हुआ और पुलिस से उन्हें रिहा करने की गुहार लगाई.