नई दिल्ली – संसद के शीतकालीन सत्र के खत्म होने में अब मात्र आज का दिन शेष बचा है। नोटबंदी, किरन रिजिजू, अगस्ता वेस्टलैंड हेलीकॉप्टर डील और कुछ अन्य मुद्दों को लेकर सरकार और विपक्ष के बीच गतिरोध के कारण अब तक का पूरा सत्र हंगामे भरा रहा है। जिसके कारण कई बिल संसद में लंबित पड़े हैं। नोटबंदी पर संसद में मचे घमासान और शीतकालीन सत्र के अंतिम दिन से पहले शुक्रवार को बीजेपी संसदीय दल की बैठक हुई। कल भाजपा के वरिष्‍ठ नेता लाल कृष्‍ण आडवाणी के नाराज होने के बाद ऐसे कयास लगाए जा रहे हैं कि शीतकालीन सत्र के आखिरी दिन आज सरकार संसद की कार्यवाही चलाने की भरपूर कोशिश करेगी। Bjp parliamentary party meeting.

 

कभी खत्म न होने वाला ‘नरक’  –

Bjp parliamentary party meeting

शीतकालीन सत्र के समापन से एक दिन पहले तक संसद के दोनों सदनों में जमकर हंगामा हुआ। सत्तापक्ष और विपक्ष, दोनों नोटबंदी, किरन रिजिजू, अगस्ता वेस्टलैंड हेलीकॉप्टर डील और कुछ अन्य मुद्दों को लेकर एक-दूसरे पर आरोप लगाते रहे। दोनों सदनों में लगातार हंगामे से भारतीय जनता पार्टी के वरिष्ठ नेता लालकृष्ण आडवाणी नाराज नज़र अ रहे हैं। कल उन्होंने कहा कि उन्हें लगता है कि वह संसद से इस्तीफा दे दें क्योंकि यह कभी खत्म न होने वाला ‘नरक’ बना हुआ है। हालांकि, आडवाणी ने यह बात संसद की कार्यवाही स्थगित हो जाने के बाद कही।

 

अंतिम दिन: BJP संसदीय दल को संबोधित करेंगे पीएम मोदी –

Bjp parliamentary party meeting

संसद के शीतकालीन सत्र के आखिरी दिन बीजेपी कि संसदीय दल की बैठक को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी संबोधित कर सकते हैं। पूरे सत्र में अभी तक नोटबंदी पर विपक्ष के हंगामे के चलते काम-काज नहीं हो पाया है। गुरुवार को भी नोटबंदी व अन्य मुद्दों पर हंगामे के चलते लोकसभा व राज्यसभा पुरे दिन के लिए स्थगित हो गई थी।

इस बीच संसदीय कार्य मंत्री अनंत कुमार ने कहा कि सरकार नोटबंदी के मुद्दे पर चर्चा को तैयार थी, तैयार है और तैयार रहेगी। लेकिन, पहले सदन में अगस्ता वेस्टलैंड मामले में हुए नये खुलासे और कांग्रेस, बसपा और सपा के नोट जुगाड़ पर चर्चा होनी चाहिए।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.