अब रोबोट खिलाएंगे खाना औऱ साफ करेंगे आपका रूम, अलीबाबा ने चीन में खोला भविष्य का ऐसा होटल

दुनिया में जितनी विचित्र चीजें होती हैं वो सबसे पहले चीन या जापान में भी देखने को मिलती है. अब बिजनेस जगत से ऐसी खबर आ रही है कि दुनिया के बड़ी ई-कॉमर्स कंपनियों में शामिल अलीबाबा ने आज के समय को ध्यान में रखकर नई तकनीकों का प्रयोग करके एक फ्यूचर होटल खोला है. झेजियांग नाम के राज्य में हांगझू शहर में फ्लाईजू नाम का होटल खोला गया है. ऐसा बताया जा रहा है कि इसमें रूम सर्विस से लेकर आपका पूरा ख्याल कोई इंसान नहीं बल्कि रोबोट रखेगा और ये देखना वहां जाने या रहने वालों के लिए दिलचस्प होगा. अब रोबोट खिलाएंगे खाना औऱ साफ करेंगे आपका रूम, जानिए इस अद्भुत होटल के बारे में कुछ और बातें.

अब रोबोट खिलाएंगे खाना औऱ साफ करेंगे आपका रूम

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक अभी मौजूद सभी नई तकनीकों से लैस होटल में कई भविष्य की सुविधाएं मौजूद हैं. होटल के ग्राहक बिना किसी से बात किए होटल में चैकइन कर सकते हैं और सीधे अपने कमरे के दरवाजे पर जाकर अपना चेहरा स्कैन करवाकर अपने रूम का दरवाजा खोल सकते हैं. इसके बाद रोबोट आपके पास रूम सर्विस के लिए आएगा वैसे बता दें कि ऐसे कई रोबोट पूरे होटल में घूमेंगे.

ये रोबोट ध्वनि संदेशों के जरिए ग्राहकों की मदद करते हैं और ये रोबोट ग्राहक के एक इशारे पर उनकी इच्छा पूरी भी करते हैं. होटल के कमरों के अंदर ऐसी बहुत सी चीजें हैं जिन्हें बोलो और वो आपका काम करेंगी. ग्राहक एप के जरिए इस होटल के कमरे बुक करव सकते हैं. होटल में चेक इन करते समय कृत्रिम बुद्धि (आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस) मशीन का इस्तेमाल हुआ है. होटल के कमरों में लाइट, पंखे, पर्दे, टीवी सहित कई ऐसी एसेसरीज हैं जो आपकी आवाज पर कंट्रोल होंगी क्योंकि उनमें अलीबाबा के वॉयस एक्टिवेटेड असिस्टेंट सिस्टम लगाए गए हैं.

होटल के रम सर्विस से लेकर रेस्टोरेंट में खाना लाने तक का सभी काम रोबोट ही करेंगे और आपके खाने की डिलीवरी भी यही करते हैं. चीन के हांगझू में ये फ्यूचर होटल बनाया गया है और अलीबाबा का हेड ऑफिस भी इसी शहर में है. फ्लाई जू होटल के सीईओ वांग कुन के अनुसार आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस के उपयोग मे लाने की वजह से होटल में अब बहुत ही कम कर्मचारी रह गए हैं. ऐसा इसलिए है क्योंकि वहां पर नई तकनीकों की मदद से रोबोट की संख्या इतनी है और वो रोबोट अपना काम इतने अच्छे से करते हैं कि वहां पर स्टाफ की जरूरत ही नहीं होती. गिनती के कुछ ही स्टाफ ऐसे हैं जो इंसान हैं बाकी सारा काम रोबोट के हाथ में ही रहता है.