राजनीति

राहुल गांधी की फिर फिसली जुबान, कुंभारम योजना को बताया कुंभकर्ण योजना

राहुल गांधी हर बार की तरह एक बार फिर अपनी फिसली जुबान के चलते ट्रोल हो रहे हैं। दरअसल राजस्थान के झूंझनू के सूरजगढ़ विधानसभा क्षेत्र के कांग्रेस प्रत्याशी श्रवण कुमार के समर्थन में बुहाना में एक जनसभा को संबोधित कर रहे थे। यहां अपनी बात कहते हुए उनकी जबान फिसल गई जिसके बाद लोगों को एक बार फिर मजाक बनाने का मौका मिल गया। इस फिसलती जुबान ने एक बार फिर राहुल गांधी  की किरकिरी कर दी।

फिसली राहुल की जुबान

दरअसल जनसभा को संबोधित करते हुए राहुल गांधी कुंभारन योजना के बारे में बात कर रहे थे। उन्होंने भाषण की शुरुआत में ही कुंभारम लिफ्ट योजना को कुंभकर्ण योजना कह दिया। उनके ऐसे बयान के बाद हंसी के ठहाके गुंज उठे। राहुल गांधी की पीछे से तुरंत बता दिया गया कि यह कुंभकर्ण योजना नहीं बल्कि कुंभारम योजना है। राहुल गांधी पिछली कांग्रेस सरकार द्वारा झूंझनू जिले में कराए गए विकास कार्यों और उपलब्धियों को गिना रहे थे। इसी के चलते वह मीठे पानी के लिए  कुंभारम लिफ्ट परियोजना का जिक्र करना चाह रहे थे। ऐसे में उनकी जबान फिसल गई और कुंभारम लिफ्ट कैनाल योजना की जगह कुंभकर्ण योजना कह दिया।

राहुल गांधी की जबान फिसलते ही वहां हंसी ठिठोली शुरु हो गई। उस वक्त मंच पर राहुल गांधी के साथ कांग3स के राष्ट्रीय महासचिव और राजस्थान के पूर्व मुख्यमंत्री अशोक गहलोत और पूर्व जलदाय मंत्री , साथ ही खेतड़ी विधानसभा से कांग्रेस के प्रत्याशी डॉ जितेंद्र सिंह ने तुरंत राहुल गांधी की मदद की। उन्होंने फौरन उन्हें बताया कि कुंभारम नाम बताया।

बता दें कि ऐसा पहली बार नही है जब राहुल गांधी की जबान फिसली है। इससे पहले भी कई बार वह अपनी बातों के चलते ट्रोल हो चुके हैं। एक बार उन्होंने किसानों को लेकर एक बयान में कहा था कि वह एक ऐसी फैक्ट्री बनाएंगे जिससे एक तरफ आलू डालो तो दूसरी तरफ सोना निकलेगा। एक बार उन्होंने कोका कोला बनाने वाले मैन्यूफेक्चरर को शिकंजी बेचने वाला बता दिया था।

पहले भी ट्रोल हो चुके हैं राहुल

इसके अलावा एक ससंद में भाषण देते समय वह मोदी जी के गले लग गए थे और बाद में अपने पार्टी के नेता की तरफ देख कर आंख मारी थी, इसको लेकर भी राहुल गांधी बहुत ट्रोल हुए थे। एक बार उन्होंने अपनी ही पार्टी की फजीहत कर दी थी। उन्होंने कहा था कि कांग्रेस में एक भी नियम कानून नहीं चलता। एक भी नियम कानून इस पार्टी में नही है। हर दो मिनट में नए नियम बनाते हैं, पुराने नियम दबा दिए जाते हैं, कभी कभी मैं पूछता हूं अपने आप से कि भैया ये पार्टी चलती कैसे है?

इतना ही नहीं राहुल गांधी कई बार कहना कुछ चाहते हैं, लेकिन मुंह से  कुछ और निकल जाता है। ऐसा ही कुछ हुआ जब एक प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान राहुल गांधी ने कहा था कि आज हर जगह पॉलिटिक्स है। यह आपकी शर्ट में है, यह आपकी पैंट में है। हर जगह है पॉलिटिक्स। एक बार विपक्ष पर निशाना साझते हुए उन्होंने कह दिया था कि महिलाओं क्या लगता है आपको, इज्जत की आपकी, भ्रष्टाचार किया..बल-त्कार किया…सॉरी बला-त्कार किया।

Related Articles

Close