राजनीति

राहुल के पच्चतीस के झमेले से निकल गए हों तो थरुर के BIBLIOBIBULI पर ध्यान दे देना!

भारतीय राजनेताओं के मुंह से कई बार ऐसे शब्द निकल जाते हैं जिससे वह जनता के बीच अक्सर चर्चा में आ जाते हैं। हाल ही में कांग्रेस नेता शशि थरुर ने भी ऐसा शब्द खोज निकाला है जिससे वह चर्चा में आ गए हैं। यह शब्द उन्होंने किसी बयान में बोला नही है बल्कि खुद ट्वीट कर पोस्ट किया। शशि थरुर अक्सर अपने अंग्रेजी शब्दों को लेकर चर्चा में रहते हैं। अब एक बार फिर उन्होंने एक ऐसा शब्द डिक्शनरी से खोज लिया है जिससे उनकी चर्चा हो रही है। यह शब्द है BIBLIOBIBULI और उनका कहना है कि इसका मतलब होता है वह लोग जो ज्यादा पढ़ते हैं।

फिर आया शशि थरुर का शब्द

इस शब्द की जानकारी देते हुए उन्होंने लिखा कि क्या कोई विशेष रुप से इन दिनों बहुत ज्यादा पढ़ सकता है? उनके ट्वीट करने के कुछ घंटों के बाद से ही लोगों ने इसे रिट्वीट करना शुरु कर दिया और हजारों लोग इसे लाइक कर चुके है। थरुर ने इस शब्द का मतलब और भी खुलकर बताया है। थरुर ने ट्वीट कर बता या कि  BIBLIOBIBULI शब्द एच एल मेंकेन ने 1975 में इजाद किया था। मैं उन लोगों को जानता हूं जिन्हें किताब का नशा होता है जबकि कई ऐसे आदमी भी हैं जिन्हें व्हिस्की और धर्म का नशा होता है। वह भटकते रहते हैं और कुछ भी नहीं देखते और कुछ भी नहीं सुनते।

पहले भी अंग्रेजी से किया हैरान

इससे पहले भी कई बार अंग्रेजी के शब्दों के साथ ट्वीट कर चुके हैं जिसकी वजह से वह सुर्खियों में रहे हैं। एक बार शशि थरुर ने THE PARADOXICAL PRIME MINISTER किताब के साथ एक ऐसा शब्द लिख दिया था जिससे लोग चौंक गए थे। उन्होंने इस किताब में floccinaucinihilipilification शब्द बाहर निकाला था। इस शब्द को पढ़ना ही बहुत मुश्किल है और बोलना तो टेढ़ी खीर हो जाएगा। डिक्शनरी के मुताबिक यह नाउन है और इसका मतलब है कि वह बेकार के रुप में कुछ अनुमान लगाने की कार्रवाई या आदत। यह माडर्न इंग्लिश का नहीं बल्कि  18वीं शताब्दी में ज्यादा बोला जाने वाला लैटिन अंग्रेजी का शब्द है।

 

अब एक बार फिर शशि थरुर अपने अनोखे शब्द से लोगों के बीच चर्चा में आ गए हैं। हालांकि हाल में एक गलत स्पेलिंग की वजह से वह ट्विटर यूजर के निशाने पर आ गए है, लेकिन गलत स्पेलिंग को ही लेकर लोग सही मानकर गूगल में खोज रहे हैं। गौरतलब है कि कांग्रेस के नेता ऐसे बयानों से लोगों के बीच चर्चा का विषय बने रहते हैं।

राहुल ने उलझाया पच्चतीस से

इससे पहले राहुल गांधी ने ऐसी संख्या का नाम ले लिया था जिससे हर जगर उनका जमकर मजाक उड़ाया जा रहा है। राहुल गांधी ने मोदी सरकार पर आरोप लगाते हुए कहा कि मध्य प्रदेश में पच्चतीस लाख युवा बेरोजगार हैं। इसके बाद उनके पच्चतीस पर सवाल उठाया जा रहा है। सबका कहना था कि राहुल गांधी 25 कहना चाह रहे हैं या 30 समझ नहीं आ रहा। गौरतलब है कि राहुल गांधी अक्सर ऐसी बातें बोलकर ट्रोलर्स के निशाने पर आ जाते हैं। वहीं दूसरी तऱफ कांग्रेस के ही नेता शशि थरुर अपने अंग्रेजी की शब्दों से लोगों के बीच चर्चा में आ जाते हैं।

यह भी पढ़ें

Show More
Back to top button