राजनीति

तेलंगाना विधानसभा चुनाव 2018: उम्मीदवारों की लिस्ट जारी होते पार्टी में अंदरूनी घमासान

न्यूज़ट्रेंड वेब डेस्क: तेलंगामा में आगामी विधानसभी चुनाव को लेकर कांग्रेस ने पूरी तैयारी कर ली है, कांग्रेस नें महागठबंधन को कई बार टालने के बाद आखिर में चुनावीं उम्मीदवारों की लिस्ट जारी कर दी है। बता दें की कांग्रेस ने दो लिस्ट जारी की हैं जिनमें कुल मिलाकर 75 उम्मीदवारों के नाम सामने आए हैं।

कांग्रेस ने पहली लिस्ट सोमवार (12 नवंबर) को पहली लिस्ट जारी की थी, जिसके बाद पार्टी के उम्मीदवारों में असंतोष व्याप्त हो गया था। जो उम्मीदवार टिकट पाने में असफल रहें उन्होंने पार्टी के खिलाफ प्रदर्शन कर अपनी रोष व्याप्त किया। वहीं पूर्व प्रदेश कांग्रेस कमेटी अध्यक्ष एवं मंत्री रह चुके पी. लक्ष्मैया दिल्ली रवाना हुए क्योंकि उनका नाम पहली सूची में नहीं था. कांग्रेस ने देर रात 65 उम्मीदवारों की अपनी पहली सूची जारी की थी।

हैदराबाद के सेरीलिंगमपल्ली सीट से पूर्न विधायक बिकशापति यादव भी लिस्ट में अपना नाम ना पाने से नाराज हुए उनकी सीट कांग्रेस नीत गठबंधन की सहयोगी पार्टी टीडीपी के नेता भाव्या आनंद को दे दी गई। जिस पर बिकशापति मे राहुल और पार्टी पर आरोप लगाते सवाल किया कि पार्टी के लिए काम करने के लिए क्या यह इनाम मिलता है. उन्होंने कहा कि कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने पहले कहा था कि चुनाव के समय “पैराशुट से उतरने वालों” को टिकट नहीं दिया जाएगा लेकिन “अब क्या हुआ.” राज्य में कुछ स्थानों पर कुछ जगहों पर पार्टियों के समर्थकों ने प्रदर्शन किये.

119 सदस्यीय विधानसभा के लिए सात दिसंबर को होने वाले चुनाव के लिए महागठबंधन का कांग्रेस हिस्सा है. इस गठबंधन में कांग्रेस, टीडीपी, भाकपा और तेलंगाना जन समिति (टीजेएस) शामिल है. इस गठबंधन में कांग्रेस, टीडीपी, भाकपा और तेलंगाना जन समिति (टीजेएस) शामिल है. कांग्रेस ने अपने सहयोगी दलों के लिए 25 सीटें छोड़ने का निर्णय किया है जिसमें टीडीपी के लिए 14, टीजेएस के लिए आठ और भाकपा के लिए तीन सीटें हैं।

बता दें कि कांग्रेस ने आज तेलंगाना विधानसभा चुनाव के लिए अपनी दूसरी लिस्ट भी जारी कर दी है इस लिस्ट में 10 उम्मीदवारों के नाम हैं।

तेलंगाना विधानसभा चुनाव के लिए बीजेपी भी अपनी जीत के लिए कोई कसर नहीं छोड़ रही है, वो लोगों को लुभाने के लिए एक के बाद एक वादे कर रही है, हाल ही में भाजपा की तरफ से ये घोषणा की गई कि यदि तेलंगाना में उनकी सरकार आती है तो वो वहां पर शराब की ब्रिकी और उसकी ब्रिकी के समय पर पाबंदी लगाएगी साथ ही भाजपा ने लोगों से यह भी वादा किया है कि हर साल एक लाख गाय मुफ्त में बांटी जाएंगी। भाजपा की चुनाव घोषणापत्र समिति के अध्यक्ष एनवीएसएस प्रभाकर ने शनिवार को कहा कि गांवों में त्योहारों और अन्य अवसरों पर उन लोगों को गायें बांटे जाने का प्रस्ताव है, जो इसकी मांग करेंगे।

जिस तरह से दोनों सरकारें अपनी-अपनी जीत के लिए हर मुमकिन कोशिश कर रही हैं उससे किसी की भी हार-जीत का अंदाजा लगाना काफी मुश्किल है। लेकिन जिस तरह से एक तरफ महागठबंधन हैं और दूसरी तरफ अकेली भाजपा सरकार उस तरह से देखा जाए तो चुनाव का रूख कांग्रेस की ओर ही झुका नजर आ रहा है।

MP में कांग्रेस ने जारी किया घोषणा पत्र, तो बीजेपी पार्टी हाईकमान में छाई टेंशन की लहर

Related Articles

Close